खामगांव. स्थानीय कृषि उपज मंडी के सभापति संतोष टाले ने पद भार संभाला किंतु कानूनन उन्हें बैंक व्यवहार में हस्ताक्षर करने का अधिकार प्रदान नहीं किया गया है. इसलिए उनके व्दारा अगर बैंक व्यवहार होते है

खामगांव. स्थानीय कृषि उपज मंडी के सभापति संतोष टाले ने पद भार संभाला किंतु कानूनन उन्हें बैंक व्यवहार में हस्ताक्षर करने का अधिकार प्रदान नहीं किया गया है. इसलिए उनके व्दारा अगर बैंक व्यवहार होते है तो उसे संबंधित बैंक व पदाधिकारी जिम्मेदार होगे ऐसी शिकायत कृषि उपज मंडी के उप सभापति नीलेश दीपके सहित 5 संचालकों ने जिला उप निबंधक सहकारी संस्था की ओर एक निवेदन व्दारा की है. निवेदन में कहा है कि कृषि उपज मंडी में 3 फरवरी की सुबह 11 बजे सभा का आयोजन किया गया था. जिस में सभापति सहित 9 संचालक उपस्थित थे. सभा में कृषि उपज मंडी के व्यवहार संदर्भ में हस्ताक्षर करने के अधिकार सभापति को प्रदान करने संदर्भ में चर्चा होकर प्रस्ताव पारित होना था.

इस अवसर पर इस विषय पर मतदान लेने की मांग नीलेश दीपके सहित 5 संचालकों ने की. इसके उपरांत बहुमत नहीं होने पर इस विषय को विरोध होगा इसलिए सभापति सभा से बाहर निकल गये. उनके साथ सचिव भिसे व अन्य 3 संचालक भी सभा से निकल गए. किंतु सभापति व सचिव की मिली भगत कर हस्ताक्षर के अधिकार सभापति टाले को देने का प्रस्ताव लिखकर बैंक से आर्थिक व्यवहार कर सकते है.

ऐसी आशंका निवेदन में जतायी है. इसलिए सभापति टाले के हस्ताक्षर से बैंक आर्थिक व्यवहार न करे ऐसे निर्देश बैंकों को देने की मांग की गयी है. इस निवेदन की प्रतियां स्टेट बैंक ऑफ इंडिया कृषि शाखा खामगांव व खामगांव अर्बन बैंक कॉटन मार्केट शाखा खामगांव को भी दी गयी है. इस निवेदन पर उप सभापति नीलेश दिपके, संचालक श्रीकृष्ण टिकार, संजय झुनझुनवाला, राजेश हेलोडे, विवेक मोहता के दस्तखत है.