Indigo
File Photo

    नयी दिल्ली. इंडिगो (Indigo) ने बृहस्पतिवार को कहा कि कंपनी अपने विमानों में तीन द्वारों से निकासी की व्यवस्था करेगी, ताकि यात्री जल्दी विमान से बाहर निकल सकें। विमानन कंपनी ने एक बयान में कहा, ”नयी प्रक्रिया के तहत यात्रियों की निकासी के लिए आगे दो और पीछे एक द्वार होगा, जिसके साथ ही इंडिगो इस प्रक्रिया का इस्तेमाल करने वाली दुनिया की पहली विमानन कंपनी बन जाएगी।”

    इंडिगो के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) रोनोजॉय दत्ता ने दिल्ली हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से कहा कि तीन निकास द्वार वाली व्यवस्था के जरिए विमान से यात्रियों को उतारने में विमानन कंपनी के पांच से छह मिनट बचेंगे।

    उन्होंने कहा, ”दो द्वार से निकासी की व्यवस्था के तहत एक ए321 विमान को खाली कराने में आमतौर पर 13-14 मिनट लगते हैं। तीन निकास द्वार की व्यवस्था के तहत यात्रियों के विमान से निकलने में केवल 7-8 मिनट लगेंगे।” सीईओ ने कहा कि शुरुआत में इंडिगो बेंगलुरु, मुंबई और दिल्ली में इस व्यवस्था को लागू करेगी। धीरे-धीरे सभी हवाई अड्डों पर इसे लागू किया जाएगा। इंडिगो बृहस्पतिवार को अपना 16वां स्थापना दिवस मना रही है।