West Bengal artist created Sushant Singh Rajput's wax statu

कोलकाता. पश्चिम बंगाल के एक अनुभवी मोम कलाकार सुशांतो रॉय (64) ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को श्रद्धांजलि देते हुए उनकी पूर्ण प्रतिमा को वैक्स के माध्यम से उकेरा है। पश्चिम बर्दवान जिले में अपने स्टूडियो में अभिनेता की मूर्ति को पूरा करने में रॉय को डेढ़ महीने का समय लगा। इस दिग्गज कलाकार ने इससे पहले मेगास्टार अमिताभ बच्चन, फुटबॉल के दिग्गज डिएगो माराडोना और मार्क्सवादी पितामह ज्योति बसु की मूर्तियां बनाई हैं। रॉय 2001 से मोम की मुर्तियां बना रहे हैं। 

रॉय द्वारा पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की मोम की मूर्ति राष्ट्रपति भवन में आज भी गर्व से रखी है। रॉय ने कहा, “मैं उन व्यक्तित्वों की प्रतिमाओं को देखता हूं जिनके साथ मैं किसी न किसी तरह से भावनात्मक रूप से जुड़ा हुआ महसूस करता हूं। जिनका जीवन और कार्य मुझे प्रेरित करते हैं। चाहे अमिताभ बच्चन हों, ज्योति बसु, प्रणब मुखर्जी या माराडोना।”

रॉय ने सुशांत के वैक्स स्टैचू को लेकर कहा, “सुशांत का मोम का पुतला भी उसी कारण से बनाया गया था, हालांकि मुझे अफसोस है कि मैं इसे कभी भी अभिनेता को नहीं दिखा पाऊंगा, जिसका अभिनय करियर में संघर्ष सभी आकांक्षी अभिनेताओं के लिए प्रेरणा होना चाहिए।”

मूर्तिकार ने यह भी कहा कि “सुशांत को भाई-भतीजावाद का शिकार होने की खबर ने उनके साथ एक अराजकता पैदा कर दी थी। राज्य में पहला वैक्स कलाकार होने के कारण बड़ी हस्तियों से सराहना मिली है, बावजूद इसके शहर में प्लाट के अनुरोध के बाद भी न तो राज्य न ही केंद्र सरकारों द्वारा मेरी इस बात पर विचार किया गया था। ”

उन्होंने कहा, “सुशांत और मैं दोनों बाधाओं के खिलाफ लड़ रहे थे, लेकिन कभी हार नहीं मानी।” रॉय ने क्रिकेट आइकन सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली के मोम के पुतले भी बनाए थे और दोनों ने कथित तौर पर उनके कामों की प्रशंसा की थी।