3 days on Mahavitaran Lineman Group Holiday

  • 266 वेबिनार व 1778 विशेष सहायता

चंद्रपुर. ग्राहकों से प्रत्यक्ष रूप संपर्क कर बिजली बिल के संदर्भ में हुए संभ्रम को दुर करने हेतु महावितरण की ओर से ग्राहकों में जनजागरण किया गया. 266 वेबिनार व 1 हजार 778 विशेष सहायता कक्षाद्वारा डेढ लाख ग्राहकों का समाधान किया. तथा 2 प्रश सहुलत के साथ किश्त दिए गए. इस हेतु विदर्भ के घरेलु, वाणिज्यिक व औद्योगिक का कुल 3५ लाख  ग्राहकों ने 1 हजार 545 करोड रूपये का बिजली बिल का भुगतान किया. 

लॉक डाउन के दौरान रिडींग नही लिए जाने से महावितरण ने ग्राहकों को एक साथ तीन महिनें का बिल भेज दिया. जिससे बिजली बिल अधिक आने का संभ्रम ग्राहकों में निर्माण हुआ. ग्राहकों का संभ्रम दुर करने के लिए महावितरण ने ग्राहकों से प्रत्यक्ष रूप से भेट कर तथा भ्रमणध्वनी से, ग्राहक संम्मेलन, वेबिनार, विशेष सहायता कक्ष, जनप्रतिनिधि, वॉट्स एप पर जानकारी देकर जनजागरण किया गया.  

लाकडाऊन शुरू होने के पश्चात अप्रैल से 28 जुलाई 2020 के दौरान विदर्भ के कुल 35 लाख 39 हजार 200 ग्राहकों ने 1 हजार 545 करोड रूपये का बिजली बिल का भुगतान किया. जिसमे जुन व जुलाई इन दो महिनों में बिजली बिल का भुगतान करनेवाले ग्राहकों का प्रमाण कुल 13 लाख है. इन ग्राहकों ने कुल 708 करोड रूपये का बिल का भुगतान किया. ग्राहकों केा बकाया बिल का संपुर्ण भुगतान करने पर राशी पर 2 प्रश छुट दिए जाने की जानकारी दी गयी थी. साथ ही तीन हप्तो में बिजली बिल भरने की सुविधा ग्राहकों को उपलब्ध करायी. यह सुविधा लेनेवाले ग्राहकों को ब्याज, विलंब शुल्क, जुर्माना वसुला नही जायेगा.  कोरोना प्रादुर्भाव को ध्यान में लेते हुए कार्यालय में भीड ना करते हुए ऑनलाईन  बिजली बिल भरने तथा महावितरण को सहयोग करने का आवाहन नागपुर प्रादेशिक कार्यालय के प्रादेशिक संचालक सुहास रंगारी, चंद्रपुर परिमंडल के मुख्य अभियंता सुनील देशपांडे ने किया है. 

1 अप्रैल 2020 से 28 जुलाई  के दौरान का नागपुर प्रादेशिक कार्यालय अंतर्गत आनेवाले नागपुर परिमंडल का सर्वाधिक कुल 15 लाख 6 हजार 520 ग्राहकों ने 869 करोड, चंद्रपुर परिमंडल के 5 लाख 61 हजार 750 ग्राहकों ने कुल 209 करोड, अमरावती परिमंडल में 5 लाख 86 हजार 410 ग्राहकों ने 197 करोड, गोंदिया के 4 लाख 11 हजार 340 ग्राहकों ने 115 करोड रूपये व अकोला परिमंडल के कुल 4 लाख 73 हजार 200 ग्राहकों ने 143 करोड रूपये बिजली बिल का भुगतान किया.