अरहेर-नवरगांव PHC की इमारत जर्जर, कर्मियों व मरीजों के सिर पर मंडरा रहा खतरा

    ब्रम्हपुरी. तहसील के अरहेर-नवरगांव प्राथमिक स्वास्थ्य में आसपास के गांव के मरीज बड़ी संख्या में उपचार के लिए आते हैं. यहां पर अनेक गर्भवती महिलाएं भी उपचार के लिए आती हैं. किंतु वर्तमान में इमारत काफी जर्जर हो गई है. हमेशा कर्मचारियों व मरीजों के सिर पर खतरा मंडराता रहता है. इसलिए इमारत की दुरुस्ती करने की मांग लोगों ने की है.

    कई गांव से आते हैं मरीज

    अरहेर-नवरगांव में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में नवरगांव, पिंपलगांव (भो), भालेश्वर, नंदगांव, नानौरी, दिघोरी, सोंदरी और आसपास के अन्य गांवों के निवासी उपचार के आते हैं. यह केंद्र क्षेत्र के लोगों के लिए एक सुविधाजनक है. लेकिन अब स्वास्थ्य केंद्र की इमारत जीर्ण होती जा रही है. जिससे यहां कर्मचारियों व रोगियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है. हालात यह है कि यहां आने वाले मरीजों को ब्रम्हापुरी के सरकारी अस्पताल में जाने के लिए कहा जा रहा है.

    ऐसे समय में गर्भवती महिला, उसके बच्चे और अन्य जरूरी मरीजों की जान को खतरा हो सकता है. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अरहेर-नवरगांव के कर्मचारी भी जान जोखिम में डालकर अपनी ड्यूटी कर रहे हैं. ग्रामीणों की मांग है कि इस जीर्ण इमारत में कोई हादसा होने के पूर्व इसकी मरम्मत की जानी चाहिए.