CDCC बैंक ने बांटा 95 प्रश फसल कर्ज, 500 करोड़ का था लक्ष्य

    चंद्रपुर. जिला मध्यवर्ती सहकारी बैंक ने इस वर्ष खरीफ मौसम में फसल वितरण का 500 करोड़ का लक्ष्य रखा है. जून महीने के अंत तक 95 प्रश लक्ष्य पूर्ण होने का दावा सीडीसीसी बैंक ने किया है. कोरोना के कारण सम्पूर्ण अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है. किसानों को आर्थिक बल देने के लिए जिला मध्यवर्ती बैंक पहल कर कोई भी किसान फसल कर्ज से वंचित न रहे इसका ध्यान रखा जा रहा है.

    54,600 सदस्य संख्या

    सरकार ने खरीफ और रबी फसल के लिए 490 करोड़ का लक्ष्य दिया था. बैंक ने स्वयं ही 500 करोड़ के कर्ज वितरण का लक्ष्य रखा है. खरीफ सदस्यों की संख्या 54,600 और रबी सदस्य संख्या 6,100 हैं. जून महीने के अंत तक चंद्रपुर तहसील में 3,642 सदस्यों को कर्ज वितरण किया गया. बल्लारपुर में 1,475, गोंडपिपरी में 3,058, पोंभूर्णा में 787, वरोरा में 10,666, भद्रावती में 5,403, चिमूर में 7,499, सिंदेवाही में 2,234, ब्रम्हपुरी में 6,665, नागभीड़ 3,713, मूल में 1,158, सावली में 4,758, राजुरा 2,800, कोरपना 3,937, जिवती 189 कुल मिला 57,984 सदस्यों को 2 लाख 9 हजार 725 एकड़ खेती के लिए 438 करोड़ 47 लाख 26 हजार रुपए का फसल कर्ज वितरित किया गया.

    गत वर्ष से अधिक वितरित

    गत वर्ष जून महीने के अंत तक 50,897 सदस्यों को 1 लाख 82 हजार  787 एकड़ खेती के लिए 357 करोड़ 81 लाख 85 हजार रुपए का कर्ज वितरित किया गया था. बैंक अध्यक्ष संतोष रावत के नेतृत्व में संचालक मंडल इस वर्ष फसल कर्ज वितरण करते हुए बैंकों की सभी शाखाओं को नियमित रूप से जाकर निरीक्षण कर रहे हैं. कोई भी किसान फसल ऋण से वंचित न रहे इसका ध्यान रखने का निर्देश दिया गया है.