CMC ने शुरू किया दवाइयों का छिड़काव, मच्छरों का बढ़ रहा प्रकोप

    चंद्रपुर. मानसून में मच्छरों का प्रकोप बढ़ रहा है. जुलाई से अक्टूबर तक मच्छरों का प्रकोप अधिक बढ़ता है. डेंगू पर प्रतिबंधात्मक उपाययोजना के तौर पर मनपा की ओर से मच्छर प्रतिबंध उपाययोजना के तहत दवाइयों का छिड़काव किया जा रहा है. डेंगू व मलेरिया बीमारी से बचाओ करने के लिए नागरिकों के घर मौजूद कूलर की टंकी में अबेट द्रव्य डाला जा रहा है.

    हर प्रभाग में पहुंच रहे कर्मचारी

    मनपा की ओर मच्छर प्रतिबंधक कार्रवाई अंतर्गत दवाई छिड़काव तथा कूलर्स की पानी की टंकी में अबेट द्रव्य डाला जा रहा है. जुलाई के पहले सप्ताह में बाबूपेठ प्रभाग क्रमांक-13 में किरने प्लाट, लक्ष्मीनारायण लान परिसर, तुकूम प्रभाग क्र. 1, डा. आम्बेडकरनगर प्रभाग क्रमांक 17 में विक्तुबाबा मंदिर, जय श्रीराम मंदिर, माता मंदिर चौक, तुकड़ोजीनगर आदि परिसर में मच्छर प्रतिबंधात्मक कारवाई अंतर्गत दवाइयों का छिड़काव किया गया. एमईएल प्रभाग के संजयनगर, दर्गा वार्ड परिसर के माता मंदिर, शिव मंदिर परिसर में फागिंग किया जा रहा है.

    सावधानी बरतने की अपील

    तुकूम तालाब में डेंगू के मरीज पाए जाने की जानकारी मिलते ही मरीजों के घर के आसपास के परिसर में कीटकनाशक दवाई का छिड़काव किया गया. एमएसईबी कालनी परिसर, विवेकनगर, विठ्ठल मंदिर प्रभाग में छिड़काव व अबेट दवाई डाली गई. जोन क्र. 1 (ब) व जोन क्र. 3 (ब) अंतर्गत प्रकाशनगर क्षेत्र में छिड़काव किया गया.

    पठानपुरा गेट व विठोबा खिड़की परिसर की सफाई की गई. बारिश के दिनों में डेंगू का प्रभाव बढ़ता है. इस मौसम में मच्छरों की पैदावार अधिक बढ़ती है. डेंगू के लिए जिम्मेदार इजिप्त मच्छर सुबह के समय काटता है. उसके काटने पर 3 से 5 दिन बाद बुखार के लक्षण दिखाई देते हैं. इसलिए सावधानी बरतना आवश्यक है.