पालकमंत्री वडेट्टीवार इस्तीफा दे- आप नेता एड. गोस्वामी की मांग

  • प्राकृतिक आपदा में पूर्व विदर्भ के किसानों के साथ अन्याय

ब्रम्हपुरी. आम आदमी पार्टी की नेता एड. पारोमिता गोस्वामी ने कहा कि पूर्व विदर्भ के किसानों और बाढ प्रभावितों को पालकमत्री विजय वडेट्टीवार ने न्याय नहीं कर पाये इसलिए उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. उन्होने कहा कि पूर्व विदर्भ के बाढ प्रभावितों के साथ हुए अन्याय के खिलाफ उन्होने हाईकोर्ट में याचिका दायर की है.   

एड. गोस्वामी का कहना है कि कोंकण में आये चक्रवात के प्रभावित को राज्य के सहायता एवं पुनर्वसन विभाग ने दिल खोलकर मदद की है.परंतु इसी विभाग ने विदर्भ के बाढ प्रभावितों के साथ भेदभाव किया है. कोंकण के चक्रवात प्रभावितों को 1.50 लाख रुपये की सहायता जबकि पूर्व विदर्भ के बाढ प्रभावितों को केवल 95 हजार रुपयों की सहायता दी जा रही है.  कोंकण के लोगों का तीन महीने का बिजली बिल माफ कर दिया गया है, यहां के बाढ प्रभावितों को बेहिसाब बिजली बिल भेजा जा रहा है. कृषि के नुकसान भरपाई के रूप में 30 सितंबर तक 18 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर देने की वडेट्टीवार ने घोषणा की थी जो कि अब तक नहीं मिली है. अब यही राशि घटाकर 13,600 रुपये हेक्टेयर देने की बात प्रशासन द्वारा की जा रही है. 

एड.गोस्वामी ने आरोप लगाया कि पालकमंत्री वडेट्टीवार अपने ही निर्वाचन क्षेत्र के बाढ प्रभावितों के साथ न्याय नहीं कर पाये है.  इस अन्याय के खिलाफ किसानों ने आखिरकार उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर की है. यह पालकमत्री की विफलता है उन्हें नैतिक जिम्मेदारी स्वीकारते हुए मंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. एड. गोस्वामी ने कहा कि दिल्ली में शुरू किसानों के आंदोलन के पार्श्वभूमि पर हम किसानों के साथ है का दम भरनेवाले पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार अपने निर्वाचन क्षेत्र के किसानों को न्याय नहीं दें पाये है.

पत्र परिषद में उच्चन्यायालय में जनहित याचिका दायर करनेवाले बाढ प्रभावित किसान मानिक चौधरी, मनोहर नाकतोडे सहित सुभाष नाकतोडे, हिरामन मुले, शिवशंकर ढोरे, ईश्वर बेदरे आदि उपस्थित थे.