सरल सेवा संवर्ग के कर्मचारियों को न्याय दें

  • जिप स्नातकेत्तर कर्मचारी संगठन ने की मांग

चंद्रपुर. राज्य में कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण पाने हेतु देश में लाकडाउन घोषित किया गया. इस दौरान कई प्रकार के निर्बंध लगाए गए. शासन ने सार्वजनिक स्वास्थ व वैद्यकीय क्षेत्र के अलावा नए पदभर्ती न करने का आदेश जारी किया है. जिससे अन्य पद रिक्त होने के कारण कई युवकों को बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है.  कई कर्मचारियों पर काम का बोझ बढ़ रहा है. इस संदर्भ में जिप स्नातकेत्तर कर्मचारी संगठन ने सरलसेवा संवर्ग के कर्मचारियों को न्याय देने की मांग जिप अध्यक्ष को सौंपे गए ज्ञापन के माध्यम से की है.  

कई पद हैं रिक्त
ज्ञापन में बताया गया, संबंधित आदेश से शैक्षणिक विभाग के लिपिक पर्यवेक्षक स्थापत्य, अभियांत्रिकी, कनिष्ठ सहायक, सांख्यिकी अधिकारी, पशु पर्यवेक्षक, वरिष्ठ सहायक आदि पद रिक्त हैं. जिससे तकनीकी कार्य का अतिरिक्त बोझ बढ़ गया है. जिप कार्यालय में अनुकम्पा वर्ग 4 परिचय शैक्षणिक पद के अनुसार पुन: नियुक्ति दिए जाने, सरल सेवा अंतर्गत नियुक्त होने वाले सभी वर्ग के कर्मचारियों पर होने वाले अन्याय न हो, संबंधित कर्मचारियों को न्याय देने की मांग महाराष्ट्र जिला परिषद स्नातकोत्तर कर्मचारी संगठन की ओर से की गयी. शिष्टमंडल में जिप कर्मचारी संगठन के राज्यस्तरीय अध्यक्ष अतुल मुले, महासचिव पंकज गोखले के मार्गदर्शन में संजीव पवार, सुवर्णा सुखदेवे, मनीषा उपाध्ये, अमोल कुलमेथे, अरविंद फुलभोगे आदि कर्मचारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे.