रियायतों के साथ 31 अगस्त तक लॉकडाउन, जाने क्या रहेगा शुरु और बंद

चंद्रपुर. जिले में 31 अगस्त तक लॉकडाउन की मियाद बढ़ा दी गयी है किंतु लॉकडाउन के बीच ही जिला प्रशासन ने जिले में कई रियायतों को भी उपलब्ध करा दिया है.

जिलाधिकारी कुणाल खेमनार द्वारा यहां जारी किए गए आदेशों के अनुसार आंतर जिला तथा आंतर राज्यीय यात्री परिवहन बंद ही रहेगा, सिर्फ अत्यावश्यक परिस्थिति में ही पूर्वानुमति तथा पास के आधार पर ही ऐसी यात्रा को अनुमति होगी. जिले में अंतर्गत यात्रा के लिए किसी प्रकार की पास की आवश्यकता नहीं होगी.

बाहर जिलों या राज्यों से जिले में दाखिल होने वाले यात्रियों को 14 दिन का संस्थात्मक या होम क्वारंटाइन अनिवार्य रहेगा. किसानों को उनके कृषि कार्य के लिए जाने आने की अनुमति होगी लेकिन इसका अन्य कामों के लिए दुरुपयोग किये जाने की स्थिति में संबंधितों पर कार्रवाई की जाएगी.

जिले में मॉल्स, सिनेमाघर, व्यापारी संकुल, जिम, स्विमिंग पुल्स, मनोरंजन पार्क आदि बंद ही रहेंगे.
होटल्स, लॉज,विश्रामगृह भी बंद ही रहेंगे. जिले में किसी भी धार्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक कार्यक्रमों को अनुमति नहीं होगी. सिर्फ गणेशोत्सव तथा बकरी ईद जैसे त्यौहारों के तहत कार्यक्रमों को ही दी गयी शर्तों के अनुसार अनुमति रहेगी.

जिले में पान टपरी तथा तम्बाकू जैसे पदार्थों की बिक्री बंद ही रहेगी. जिले में सिर्फ दैनंदिन बाजारों को ही अनुमति रहेगी.

अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए 20 लोगों को अनुमति होगी. विवाह समारोह के लिए अनुमति के बाद 50 लोगों को समारोह में शामिल होने की अनुमति रहेगी. जिले में पार्सल सेवा, कुरियर सेवा शुरू रहेगी. राज्य परिवहन निगम की बस सेवा सिर्फ जिले के अंतर्गत ही जारी रहेगी. बसों में भी क्षमता के अनुसार 50 प्रतिशत यात्रियों को ही लिया जाएगा. पेट्रोल, डीजल, गैस, केरोसिन से संबंधित प्रतिष्ठान तथा गोदाम पूर्ववत सुरु रहेंगे. सभी स्पा, केश कर्तनालयों,ब्यूटी पार्लर को सोमवार से रविवार तक सुबह 9 से 6 बजे तक अनुमति होगी, जिवनावश्यक वस्तुओं को छोडकर अन्य व्यापारी प्रतिष्ठानों को उनकी सुविधा के अनुसार सप्ताह में 1 दिन अपनी दुकाने बंद रखनी पडेगी. जिले में सभीं अस्पताल, लैब, सोनोग्राफी सेंटर्स, मेडिकल पूर्ववत शुरू रहेंगे.

जिले में कृषिपयोगी साहित्य, खाद, बीज की दुकानें सोमवार से रविवार तक शुरू रहेंगी. टू व्हीलर पर 2 यात्रियों को हेलमेट की अनिवार्यता के साथ अनुमति होगी. थ्री व्हीलर तथा 4 व्हीलर 3 यात्रियों को ही यात्रा की अनुमति होगी. बारिश का मौसम देखते हुए छाते, रेनकोट, प्लास्टिक कव्हर आदि वस्तुओं की बिक्री को जिवनावश्यक श्रेणी में डाल दिया गया है. 

स्कूलों को लेकर भ्रम की स्थिति
जिले में 4 अगस्त से स्कूल, कॉलेज शुरू किए जाएंगे या नहीं इसको लेकर अभिभावकों में अब भी भ्रम की स्थिति बनी हुई है. 

एक तरफ जिले के पालकमंत्री विजय वडेटटीवार ने हर हाल में जिले में 4 अगस्त से शाला, महाविद्यालय शुरू करने का एलान किया है तो कुछ राजनीतिक संगठनों ने इसका विरोध करते हुए स्कूल, कॉलेज शुरू करने पर आंदोलन की चेतावनी दी है.

इस बीच जिले के पूर्व पालकमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने दावा किया है कि, जिले में 4 अगस्त से स्कूल, कॉलेज कदापि शुरू नहीं होंगे. उन्होंने शालेय शिक्षा विभाग की सचिव वंदना कृष्णा का हवाला देते हुए यह दावा किया है.

यहां जारी एक विज्ञप्ति में उन्होंने कहा है कि, जिले के कई शिक्षा संस्थानों के संचालक तथा अभिभावकों ने उनसे मिलकर जिले में 4 अगस्त से स्कूल शुरू न करने का आग्रह किया था. उनका कहना था कि, जिले में कोरोना के बढ़ते प्रसार को देखते हुए संस्था संचालकों सहित अभिभावकों में डर का माहौल है.

मुनगंटीवार ने बताया कि, इसी भय की पृष्ठभूमि पर उन्होंने फोन पर शिक्षा सचिव से बात की तथा उन्हें परिस्थिति से अवगत कराया. ततपश्चात शिक्षा सचिव ने भरोसा दिलाया है कि, जिले में 31 अगस्त तक कोई स्कूल, कॉलेज शुरू नहीं किये जायेंगे.