शिक्षकों की तबादला प्रक्रिया को स्थगिती,  कई मुद्दों पर स्पष्टता नहीं होने का तर्क

चंद्रपुर. जिला परिषद के सामान्य प्रशासन, कृषि, स्वास्थ्य, पशु संवर्धन, महिला व बाल कल्याण विभाग की तबादला प्रक्रिया ऑफलाइन होने के पश्चात अब जिले के शिक्षकों की ऑफलाइन तरीके से तबादले करने के निर्देश शासन ने दिए हैं. इसके अनुसार जिला परिषद के सहायक शिक्षक, विषय शिक्षक व प्रधानाध्यापक ऐसे कुल 422 शिक्षकों के तबादलों की सूची तैयार की गई थी. किंतु कोरोना के चलते जिप सीईओ ने तबादला प्रक्रिया में कई मुद्दों पर स्पष्टता नहीं होने से बदली प्रक्रिया को स्थगिती देने का ब्योरा सरकार समक्ष भेजा था. जिसके अनुसार अब शिक्षकों की प्रक्रिया को स्थगिती दी गई है. किंतु तहसील समायोजन व विनती तबादलों का अधिकारी जिप को दिया गया है.

प्रक्रिया में थीं कई कमियां
जिप सीईओ ने कोरोना के समय विनती तबादला के लिए पात्र शिक्षकों की संख्या स्पष्ट नहीं होने तथा प्रशासकीय तबादला प्रक्रिया 15 प्रश मर्यादा निश्चित की थी. लेकिन उस तरह की निश्चिति नहीं हुई थी. जिन शिक्षकों ने जिप को 10 वर्ष की सेवा पूर्ण तथा अधिक सेवा व कार्यरत स्कूल में 3 वर्ष की सेवा पूर्ण नहीं हुई है, उनके अपील आवेदन करने वालों को तबादलों में सहभागी करने के बारे में स्पष्ट नहीं था. कर्मचारियों का सहयोगी विकलांग ऐसा दर्शाने के बजाय विकलांग कर्मी का सहयोगी दर्शाया है. जिसके कारण संबंधित तबादला प्रक्रिया में स्थगिती दिए जाने का पत्र सीईओ राहुल कर्डिले ने गुटविकास अधिकारी व गुटशिक्षाधिकारी को जारी किया है.

तबादले के लिए पात्र संवर्ग निहाय शिक्षक
सहायक शिक्षक सर्वसाधारण क्षेत्र के कुल 285 शिक्षक, तो कठीन क्षेत्र के 76 ऐसे कुल 361 शिक्षक तबादले के लिए पात्र होंगे. विषय शिक्षकों में सर्वसाधारण क्षेत्र से (विज्ञान) 10 व कठीन क्षेत्र से 1 ऐसे कुल 11, भाषा विषय के सर्वसाधारण 20 व कठीन क्षेत्र के 4 ऐसे कुल 24, सामाजिक शास्त्र विषय के सर्वसाधारण क्षेत्र के 3 शिक्षक तबादले के लिए पात्र हैं. प्रधानाध्यापक के दोनों क्षेत्रों के 23 ऐेसे कुल 422 शिक्षकों के तबादले होने वाले हैं.

पारदर्शिता बरतना जरूरी
इस बार शिक्षकों के ऑफलाइन तबादले होने वाले है. यह प्रक्रिया ऑनलाइन की तरह पारदर्शी होनी जरूरी है. प्रावधान क्रम से तबादले नहीं करते हुए रिक्त स्थानों में चयन करने का अवसर दिए जाने की बात ध्यान में लेकर तबादले किए जाए- हरीश ससनकर, राज्य महासचिव, पुरोगामी शिक्षक समिति.