विकास की मुख्य धारा से जुडेंगा राजुरा विधानसभा -सांसद धानोरकर

  • सांसद, विधायक ने जानी नागरिक और किसानों की समस्या

गोंडपिपरी. राजुरा विधानसभा में बडे पैमाने पर वोट रुपी आशर्विाद दिया है. पिछले पांच वर्षो में विधानसभा क्षेत्र विकास से कोसों दूर था. इस विधानसभा क्षेत्र को विकास की मुख्य धारा में लाकर इसका ऋण अदा करने का भरोसा सांसद बालु धानोरकर और विधायक सुभाष धोटे ने विस के गांव भेंट के दौरान संयुक्त दौरे में दिए.

पिछले 5 वर्षो में विधानसभा क्षेत्र का विकास नहीं हुआ है. उल्लेखनीय है कि केंद्र और राज्य में भाजपा की सत्ता और राजुरा में भाजपा का विधायक रहते हुए भी क्षेत्र का विकास नहीं हुआ यह बडे दुर्भाग्य की बात है. क्षेत्र के भंगाराम तलोधी, गोंडपिपरी, धाबा गांव को भेंट दी. इन गांव के ग्रामीणों ने अपनी समस्याएं सांसद और विधायक के सामने रखी. जिसमें प्रमुख रुप से वर्ष 2017 के बोंड इल्ली से त्रस्त किसानों को आज तक आर्थिक सहायता नहीं मिली है. परिसर के अनेक कर्ज से वंचित है. रमाबाई आवास योजना के पैसे नहीं मिले है, राष्ट्र महामार्ग के काम पर बाधा बन रहे बिजली के खंभे जल्द से जल्द स्थानांतरित कर ग्रामीणों की विविध समस्या दूर करेंगे.

कुछ वर्षो पूर्व गोंडपिपरी, धाबा मार्ग पुल की मरम्मत आज तक नहीं हुई है. उसे तुरंत ठीक करने का आश्वासन दिया. इसके अलावा गोंडपिपरी के अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली गई. जिसमें कोरोना वायरस की रोकथाम और उपाय योजना, बेमौसम बरसात से नुकसान, किसान आत्महत्या, नैसर्गिक आपदा, म. ज्योतिबा फुले किसान कर्जमुक्ति योजना जैसे महत्वपूर्ण विषयों की जानकारी लेकर किसान आपके परिजन है यह सोचकर काम करने के आदेश दिए.

उनके साथ विधायक सुभाष धोटे, कृषि उपज बाजार समिति सभापति सुरेश चौधरी, रामू तिवारी, नागराध्यक्ष सपना साकरवार, तुकाराम झाडे, संबु येलेकर, प्रवीण झाडे, बालाजी एकवणकर, देविदास सातपुते, कालिदास नागापुरे, विजय एकवणकर, काशिनाथ बोढे, योगेश्वर राऊत, सुधाकर निकुडे, देवराव शेडमाके, सचिन फुलझले, किशोर अगस्ती, उपविभागीय अधिकारी, तहसीलदार, वस्तिार अधिकारी, कृषी अधिकारी, महावितरण के अधिकारी, थानेदार, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे.