Vegetable
File Photo

चंद्रपुर. जिले में लगातार हो रही बारिश एवं पेट्रोल-डीजल के दामों में हुई वृध्दि के चलते अब सब्जियों के दामों में उछाल आया है. बाजार में इन दिनों सब्जियों की आवक कम हो गई  है जिसके चलते सब्जियों के दाम बढ गए है. लॉकडाऊन से जिन लोगों का रोजगार छीन गया है उनके लिए और भी मुसीबत खड़ी हो गई है.

आमतौर पर मानसून लगते ही किसान खरीफ की फसल लेने में जुट जाते है. ऐसे में खेतों में तैयार होनेवाली सब्जियों की फसल पर इसका असर होता है और किसानों का माल बाजार तक नहीं पहुंच पाता है ऐसे में सब्जियों के थोक व्यापारियों को अन्य जिलों एवं राज्यों से सब्जियां मंगानी पड़ती है. लॉकडाऊन के चलते कड़े नियमों और तथा बेमौसम बारिश ने पिछले माह से ही सब्जियों पर असर डाला है. ऐसे में आवक काफी कम हो गई है. इसके चलते सब्जियों के दाम में उछाल आया है.

साम्बर और टमाटर के दामों में दुगने से भी ज्यादा की बढोत्तरी हुई है. इस समय टमाटर 40  से 50 रूपये किलो बिक रहा है, साम्बर 100 रूपये से 120 रूपये किलो, इसके अलावा प्याज 30, बैंगन 30, भिंडी 40, गवार एवं आलू 20 से 30 रूपये, शिमला मर्चि 50 रूपये, करेला 30 रूपये किलो बिक रहा है 

लॉकडाऊन के कारण कई लोगों का रोजगार छीन जाने से उन्होने सब्जी भाजी का व्यवसाय शुरू कर दिया है. मुहल्ले के चौराहे से लेकर हाथठेले पर सब्जी बेचने का व्यवसाय शुरू है. सब्जी बेचकर घर चलाने की जुगत करनेवालों को भी सब्जी भाजी के बढते दामों ने परेशानी में डाल दिया है.