Image: BCCI Women/Twitter
Image: BCCI Women/Twitter

    ब्रिस्टल. भारत महिला टीम की युवा ‘धाकड़’ बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने गुरूवार को अपने अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए 152 गेंद में 96 रन बनाए। उन्होंने इस दौरान 13 चौके और दो छक्के लगाए। टेस्ट डेब्यू पर किसी भारतीय महिला का यह सर्वोच्च स्कोर है। टेस्ट क्रिकेट में यह भारतीय महिला टीम की ओर से महज दूसरा छक्का लगाने वाली शेफाली केट क्रॉस की गेंद पर बड़े शॉट के साथ शतक पूरा करने के चक्कर में कैच आउट हो गयी। 

    भारत और इंग्लैंड की महिला टीम के बीच खेले जा रहे मैच के दूसरे दिन गुरुवार को शेफाली का यह अंदाज़ लोगों को बहुत पसंद आया। पहले ही मैच में उन्होंने बड़े-बड़े दिग्गजों को अपना फैन बना दिया। वह शतक से केवल 4 रन से चूक गईं। उन्होंने अनुभवी स्मृति मंधाना के साथ पहले विकेट के लिए उन्होंने 167 रन की साझेदारी की।

    इस मैच को लेकर शैफाली ने कहा कि, उन्हें शतक न बना पाने का हमेशा मलाल रहेगा। उन्होंने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा,‘‘शतक से चूकने पर बुरा महसूस करना स्वाभाविक है। मुझे इसका हमेशा पछतावा रहेगा, लेकिन यह पारी मुझे आने वाले मैचों में काफी आत्मविश्वास देगी। मैं अगली बार इसे शतक में बदलने की उम्मीद करूंगी।” हरियाणा की खिलाड़ी ने बाद में ट्विटर के जरिये समर्थन और साथ देने के लिए सभी को धन्यवाद दिया।

    उन्होंने लिखा, ‘‘मैं समर्थन और शुभकामनाओं के लिए आप सभी को धन्यवाद देना चाहती हूं। प्रत्येक संदेश का व्यक्तिगत रूप से जवाब देना संभव नहीं होगा। मुझे इस टीम का हिस्सा होने और टीम में इस तरह के अद्भुत साथियों और सहायक कर्मचारियों के होने पर गर्व है।”