Delhi Capitals

-विनय कुमार.

IPL 2020 की जंग अब निर्णायक मोड़ पकड़ रही है। बड़े ही रोमांचकल दौर में पहुँच गया है आईपीएल टूर्नामेंट। ऐसे में छोटी से छोटी गलती भी किसी भी टीम के लिए घातक साबित हो सकती है। पिछले मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ( RCB) को हराकर मुंबई इंडियंस (MI) ने ‘प्लेऑफ’ की चार जगहों में से एक पर अपना कब्ज़ा कर लिया है। अब बची है बाकी की तीन टीमों की जगह। इसलिए अब बाकी के मुक़ाबले दिलचस्प हो गए हैं। पॉइंट्स टेबल में मुक़ाबलों में जीत और हार के साथ रन रेट की औसत अहम् रोल अदाकर रही है। यानी केवल मुकाबले ही नहीं बल्कि नेट रन-रेट ने जीत-हार के बाद बनने वाले समीकरणों को और भी रोआंचक और दिलचस्प बना दिया है।

अब कोलकाता नाइट राइडर्स की बात करें तो एक तस्वीर ये भी नज़र आ रही है कि जैसे कोलकाता नाइटराइडर्स एक समय टॉप चार में थी, लेकिन फिलहाल ये रन-रेट के मामले में फंसती दिखाई दे रही है।  कोलकाता नाइट राइडर्स को ‘प्लेऑफ’ में पहुंचने के लिए उसे बाकी के  बचे दोनों मैच जीतने होंगे, जिसमें से एक मैच आज खेला जा रहा है चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ। लेकिन, यदि संभावनाओं की बात की जाए, तो वे टीमें जिनके 16 पॉइंट्स हो सकते हैं उनमें कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) का नेट रन-रेट सबसे ज्यादा नेगेटिव में नज़र आ रहा है। ऐसे में, समीकरण पर जाएं तो कोलकाता नाइट राइडर्स को अपने बचे दोनों ही मैच बेहतरीन और बड़े अंतर से जीतने होंगे।  या फिर उसे या दूसरी टीमों की हार जीत के नतीजों का इंतज़ार करना पड़ेगा। और वही, नेट रन-रेट का जोड़, गुना, भाग प्लेऑफ में जाने वाली टीमों की किस्मत का फैसला करेगी।

अबकी सीज़न यानी आईपीएल 2020 में दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने शानदार प्रदर्शन किया है, खासकर के शुरूआती मैचों से ही यह टीम पूरे जोश और होश वाले तेवर लिए जंग में नज़र आ रही है। हाँ, ये भी देखा जा रहा है कि जो टीम कभी बेहद कमज़ोर मानी जाती थी, वह अबकी ताज़ा सीज़न में पॉइंट्स टेबल में टॉप पर कब्ज़ा जमाये नज़र आ रही है। हालांकि, दिल्ली कैपिटल्स फिलहाल तीसरे पायदान पर है, लेकिन तस्वीर का एक ताज़ा रुख ये भी है कि सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) से पिछली मैच में मिली करारी हार के बाद यह टीम थोड़ी परेशानी का सबब झेलती नज़र आ रही है। क्योंकि, इस मामले में भी पॉइंट्स टेबल का जादू आगे के मैचों से होते हुए ‘नेट रन-रेट’ पर अटकेगा।  क्योंकि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB)  भी पॉइंट्स टेबल में ठीक दिल्ली कैपिटल्स की तरह 12 मैच खेलकर 7 जीत और 4 हार के साथ 14 पॉइंट्स हैं। लेकिन, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) ‘नेट रन-रेट’ के आधार पर इस समय दिल्ली कैपिटल्स (DC) के ठीक ऊपर यानी नंबर दो के पायदान पर काबिज है।

दिल्ली कैपिटल्स (DC) के साथ परेशानी का सबब ये है कि उसे आखिरी दो मैच अब दो टॉप की दो धुरंधर टीम मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से खेलने हैं। दिल्ली कैपिटल्स के कुछ धाकड़ खिलाड़ी जैसे अमित मिश्रा, इशांत शर्मा पहले ही टीम से बाहर हो चुके हैं, और ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ी सही समय पर करिश्मा दिखा पाने में नाकाम नज़र आए हैं। अंजिक्य रहाणे और पृथ्वी शॉ का प्रदर्शन भी वैसा नज़र नहीं आया, जैसा उनसे उम्मीद की जारही थी।  पृथ्वी शॉ रन बटोरने के लिए संघर्ष करते नज़र आए।

ये कहना गलत नहीं होगा कि इन दोनों के ख़राब प्रदर्शन या फ्लॉप होने की वजह से टीम की नैया बीच में ही दाग्मते दिख रही है। और यही दिल्ली कैपिटल्स (DC) की कमजोर कड़ी है, जो कि इस टूर्नामेंट की शुरुआत में शानदार तेज रफ़्तार में थी और अब धीमी होती हुई दिख रही है। ऐसे में एक बात साफ़ है कि फिलहाल टूर्नामेंट जिस मोड़ पर मुड़ती हुई नज़र आ रही है, एक भी गलती किसी भी टीम की नैया डुबो सकती है। इस बात में भी कोई शक नहीं है कि, दिल्ली कैपिटल्स (DC) के धाकड़ और जोशीले युवा खिलाड़ियों की टीम के जज़्बे को देखकर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु बेहद सतर्क होकर रणनीति बना रही होगी। ज़ाहिर है, दिल्ली कैपिटल्स की यह युवा टीम मैच का रुख पलटने का माद्दा रखती है।