Corona in Delhi, 182 deaths in last 24 hours, infection rate is 3.58 percent
Representational Pic

नयी दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या करीब 60 हजार होने के बाद सरकार शहर में निषिद्ध क्षेत्रों की रणनीति को मजबूत बनाने में जुट गयी है ताकि संक्रमण को बड़े इलाके में फैलने से रोका जा सके। गौरतलब है कि शहर में पिछले 24 घंटे में और 3,000 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई।

अधिकारियों ने बताया कि शहर में अभी तक कोरोना वायरस संक्रमण से 2,175 लोग की मौत हुई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ वर्चुअल बैठक की जिसमें इस मुद्दे पर वी.के. पॉल समिति की रिपोर्ट प्रस्तुत की गई।

शाह द्वारा गठित उच्चस्तरीय समिति ने सुझाव दिया है कि दिल्ली में सभी निषिद्ध क्षेत्रों को फिर से बनाया जाए ताकि कोविड-19 का बेहतर प्रबंधन, संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों का जल्दी पता लगाया जा सके। समिति ने अपनी रिपोर्ट में निषिद्ध क्षेत्रों में किसी भी गतिविधि पर पूर्ण रोक लगाने और आसपास के क्षेत्रों में भी मकानों पर नजर रखने की सलाह दी है।

अधिकारियों ने बताया कि गृह मंत्री ने दिल्ली सरकार को समिति की रिपोर्ट पर अमल करने की सलाह दी है। राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के मामलों में तेजी से हो रही वृद्धि के बीच संभावना है कि सोमवार को होने वाली दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की महत्वपूर्ण बैठक में भी यह मामला उठेगा। यह लगातार तीसरा दिन है जब दिल्ली में तीन हजार या उससे ज्यादा कोविड-19 के नए मामले सामने आ रहे हैं।

शनिवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 3,630 नए मामले सामने आए थे, वहीं शुक्रवार को 3,137 नए मामले आए। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 63 लोग की मौत हुई है। संक्रमण से अभी तक कुल 2,175 लोग की मौत हुई है जबकि अभी तक कुल 59,746 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन की हालत में पहले से सुधार है, उनका बुखार भी कम हो गया है। उन्हें एक दिन पहले ही नपिजी अस्पताल में प्लाज्मा चढ़ाया गया है। सूत्रों ने बताया कि मैक्स साकेत में भर्ती जैन को सबसे अच्छा इलाज₨ देने के लक्ष्य से कुछ सरकारी और निजी अस्पतालों के वरिष्ठ डॉक्टरों को तैयार रहने के लिए कहा गया है।

अधिकारियों ने बताया कि 55 वर्षीय मंत्री के स्वास्थ्य में सुधार है और डॉक्टर उनकी निगरानी कर रहे हैं। एक अधिकारी ने बताया, ‘‘बुखार कम हो गया है और उनके शरीर में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ गया है। संभवत: सोमवार को उन्हें आईसीयू से बाहर निकाला जाएगा।” शाह के साथ हुई बैठक के संबंध में एक अधिकारी ने बताया, ‘‘शहर में संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों का तुरंत पता लगाने पर विस्तृत चर्चा हुई। सभी ने दिल्ली में कोविड-19 को फैलने से रोकने की रणनीति पर चर्चा की।” इस बीच एक अधिकारी ने बताया, ‘‘दिल्ली में रोज इतने ज्यादा मामले आ रहे हैं कि सभी को अस्पताल ले जाना संभव नहीं है।

पड़ताल के बाद ही तय किया जाएगा कि संक्रमित व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती करने की जरुरत है या फिर उसका इलाज घर में पृथक-वास में रहते हुए भी हो सकता है।” राष्ट्रीय राजधानी के मंडोली जेल में 62 वर्षीय कैदी की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो गई है। दिल्ली की जेलों में संक्रमण से यह पहली मौत है। कैदी कंवर सिंह हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा था। दिल्ली में तीन जेल हैं, तिहाड़, रोहिणी और मंडोली। अभी तक कुल 23 कैदी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं जिनमें से 16 का इलाज को चुका है और एक व्यक्ति की मौत हो गई है।

बुलेटिन के अनुसार, राज्य में फिलहाल 24,558 लोगों का संक्रमण का इलाज चल रहा है जबकि 33,013 लोग या तो इलाज के बाद संक्रमण मुक्त हो चुके हैं या शहर से बाहर जा चुके हैं। उसमें कहा गया है कि दिल्ली में अभी तक कुल 3,70,014 नमूनों की जांच की गई है। उसमें कहा गया है कि शहर में 12,106 कोविड-19 मरीज अपने घरों में पृथक-वास में रह रहे हैं। (एजेंसी)