लेखापरीक्षा के 75 प्रतिशत सरकारी स्कूलों के शौचालय स्वच्छतापूर्वक नहीं था: कैग

नयी दिल्ली. नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग)  (Comptroller and Auditor General) (CAG), द्वारा 15 राज्यों में लेखा परीक्षा किये गए सरकारी स्कूलों में से कम से कम 75 प्रतिशत स्कूलों के शौचालयों (Toilets) का रखरखाव स्वच्छतापूर्वक नहीं किया जा रहा था। संसद (Parliament) में बुधवार को पेश कैग की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘सर्वेक्षण के दौरान, लेखा परीक्षा में देखा गया कि 2,326 शौचालयों में से 1,812 शौचालयों में उचित रखरखाव/स्वच्छता का अभाव था। वहीं 1,812 शौचालयों में से 715 शौचालय साफ नहीं किये गए थे ।

1,097 शौचालय हफ्ते में दो बार से महीने में एक बार के बीच साफ किये जा रहे थे। ” रिपोर्ट के अनुसार, मानक प्रतिदिन कम से कम एक बार साफ करने का है। रिपोर्ट में कैग ने कहा, ‘‘ अत: चयनित 75 प्रतिशत शौचालयों का रखरखाव स्वच्छतापूर्वक नहीं किया जा रहा था । ” कैग के अनुसार, शौचालयों में साबुन, बाल्टी, सफाई एजेंटों तथा कीटनाशकों की अनुपलब्धता तथा प्रवेश मार्ग की अपर्याप्त सफाई के मामले भी देखे गए । गौरतलब है कि शिक्षा मंत्रालय ने वर्ष 2014 में स्वच्छ विद्यालय अभियान शुरू किया था जिसका मकसद एक वर्ष के भीतर लड़कों एवं लड़कियों के लिये पृथक शौचालय स्थापित करना था। (एजेंसी)