शिक्षा मंत्री निशंक को मिलेगा ‘वातायन अंतरराष्ट्रीय शिखर सम्मान’

नई दिल्ली. केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ को आगामी शनिवार को ‘वातायन अंतरराष्ट्रीय शिखर सम्मान’ से नवाजा जाएगा। निशंक सक्रिय राजनीति में रहने के साथ एक लेखक और कवि के रूप में भी अपनी पहचान रखते हैं और इसी संदर्भ में उन्हें यह सम्मान प्रदान किया जा रहा है। आधिकारिक बयान में कहा गया है, ‘‘एक लेखक एवं कवि के रूप में पहचान रखने वाले केंद्रीय शिक्षा मंत्री डाक्टश्र रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ को “वातायन अंतरराष्ट्रीय शिखर सम्मान” से सम्मानित किया जाएगा।”

बयान के मुताबिक, नयी शिक्षा नीति को नया आयाम देने वाले शिक्षा मंत्री निशंक ने 75 से ज्यादा पुस्तकें लिखी है जिनका कई विदेशी भाषाओं में अनुवाद किया जा चुका है। गौरतलब है कि “वातायन” नामक संस्था कवियों, लेखकों औऱ कलाकारों के लाभ के लिए सामाजिक सांस्कृतिक और शैक्षणिक गतिविधियों का आयोजन करती है तथा गैर-अंग्रेजी लेखकों को अंतरराष्ट्रीय मंच प्रदान करने में मदद करती है। यह संस्था अपने कार्यों को अंग्रेजी के अलावा अन्य भाषाओं में अनुवादित और प्रकाशित भी करती है।

पूर्व में वातायन सम्मान प्रसून जोशी, जावेद अख्तर, निदा फाजली,राजेश रेड्डी, कुंवर बेचैन, अनिल जोशी जैसी कई हस्तियों को मिल चुका है। बयान में कहा गया है कि ‘वातायन-यूके सम्मान’ का आयोजन 21 नंवबर को डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए किया जाएगा। इस मौके पर विशिष्ठ अतिथि प्रसिद्ध लेखक और नेहरू केंद्र लंदन के निदेशक डॉ अमीश त्रिपाठी होंगे। केंद्रीय हिंदी शिक्षण मंडल- आगरा के उपाध्यक्ष कवि अनिल शर्मा जोशी और वाणी प्रकाशन की कार्यकारी निदेशक अदिति माहेश्वरी भी इस मौके पर मौजूद होंगी।(एजेंसी)