सुदेश लहरी चाय की दुकान पर करते थे काम, कुछ ऐसी बदली किस्मत, बन गए कॉमेडी किंग

    Sudesh Lehri used to work at a tea shop, some such luck changed, he became a comedy king: एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के मशहूर कॉमेडियन सुदेश लहरी (Sudesh Lehri) आज अपना 53वां जन्मदिन मना रहे है। उनका जन्म 27 अक्तूबर 1968 को पंजाब के जलंधर शहर में हुआ था। एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में आने से पहले सुदेश अपने माता-पिता के साथ अमृतसर में रहा करते थे। कॉमेडी किंग बनना सुदेश के लिए आसान नहीं था। उन्होंने अपने जीवन में काफी कष्ट झेले इसके बाद कड़ी मेहनत से वह आगे बढे। एक समय ऐसा भी था जब सुदेश लहरी के पास एक एक टाइम खाने के पैसे भी नहीं थे। उन्हें अपना पेट भरने के लिए काफी भटकना पड़ता था। लेकिन जीवन में परेशानियां होने के बावजूद उन्होंने कभी हार नहीं मानी। 

    कुछ सालों पहले सुदेश लहरी ने Zetc चैनल को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि ‘मेरे घर की हालात खराब थी, हमें कभी स्कूल में डाला ही नहीं गया। पेट पालने के लिए मैंने बचपन में चाय वाली दुकानों पर काम किया। एक रूपये के लिए मैंने लोगों के बर्तन साफ किए। मैंने बचपन में काफी मेहनत की। इतनी मेहनत करने के बाद भी कभी खाने के लिए रोटी मिलती थी तो कभी नहीं। जब हमारे पास कुछ नहीं होता था जब हमारी मां हमें पानी में नमक मिलाकर रोटी खाने के लिए दिया करती थी।‘ 

     

     
     
     
     
     
    View this post on Instagram
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     

    A post shared by Sudesh Lehri (@realsudeshlehri)

    सुदेश लहरी ने आगे बताया कि ‘मेरे पिता महीने के सिर्फ 100-200 रुपए ही कमा पाते थे। वह जीतना भी कमाते थे दारू में खर्च कर दिया करते थे। मेरे पिता से ही मैंने गाना सीखा था। शुरूआती दिनों में वह गाना गाया करते थे। लेकिन धीरे-धीरे उन्होंने अपना गाना छोड़ कॉमेडी करना शुरू कर दिया। लोग गाने से ज्यादा उनकी कॉमेडी की पसंद करने लगे थे। इसके बाद मेरे पिता ने गाना गाना पूरी तरह से छोड़ दिया और कॉमेडी को अपना करियर बना लिया।‘