आरक्षण के लिए ओबीसी का ‘आक्रोश’, शक्तिप्रदर्शन कर खीचा सरकार ध्यान

  • राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

गड़चिरोली. स्थानीय स्वराज्य संस्थाओं में ओबीसी प्रवर्ग को आरक्षण देने की प्रमुख मांग के साथ विभिन्न मांगों को लेकर राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ की ओर से 24 जून को जिले में जोरदार प्रदर्शन करते हुए ओबीसी समाज ने आक्रोश व्यक्त किया. इस दौरान ओबीसी समाज ने शक्तिप्रदर्शन करते हुए सरकार का ध्यानाकर्षण किया. गड़चिरोली, आरमोरी, मुलचेरा, भामरागड़, एटापल्ली, देसाईगंज, कुरखेड़ा, कोरची, सिरोंचा, अहेरी, धानोरा, चामोर्शी इन 12 तहसीलों में तहसीलदार के मार्फत राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा गया. 

राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ जिला शाखा की ओर से जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन करते हुए जिलाधिकारी के मार्फत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शहा, केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गहलोत, ओबीसी पार्लमेंटरी कमेटी के अध्यक्ष राजेश वर्मा, राष्ट्रीय पिछड़ावर्गीय आयोग के अध्यक्ष भगवान लाल सहानी, एआईसीसी के अध्यक्ष सोनिया गांधी, सांसद राहुल गांधी, राकांपा के अध्यक्ष तथा सांसद शरद पवार, उपमुख्यमंत्री अजित पवार, विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फड़णवीस, छगन भुजबल, मंत्री विजय वडेट्टीवार, महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले, महाराष्ट्र के मुख्य सचिव को ज्ञापन भेजा गया है.

इस समय राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रा शेषराव येलेकर, राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ के प्रमुख मार्गदर्शक अनिल पाटील म्हशाखेत्री, सुरेश सावकार पोरेड्डीवार, प्रभाकर वासेकर, दादाजी चापले, गोविंद बानबले, अरुण पाटील मुनघाटे, जयंत येलमुले, जिलाध्यक्ष दादाजी चुधरी, उपाध्यक्ष पांडुरंग घोटेकर, सुखदेव जेंगठे, जिला सचिव प्रा देवानंद कामडी, जिला संगठक सुरेश भांडेकर, महिला संगठक सुधा चौधरी, मंगला कारेकर, राष्ट्रीय ओबीसी अधिकारी-कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष विलास मस्के, युवा अध्यक्ष राहुल मुनघाटे, राष्ट्रवादी कांग्रेस के ओबीसी सेल के अध्यक्ष विनायक झरकर, एसटी विधाते, सुरेश लडके, पार्षद रमेश भुरसे, सतीश विधाते, देवाजी सोनटक्के, दत्तात्रय पाचभाई, पंडित पुडके, पुरुषोत्तम झंजाल, दामोदर मांडवे, भास्कर नरुले, रामराज करकाडे, नारायण ठाकरे, प्रमोद खांडेकर, प्राचार्य तेजराव बोरकर, कुमुद बोरकुटे, प्रफुल सेलोटे, अजय कुकुडकर, मधुकर रेवाडे, पुष्पाताई करकाड़े, वंदना चाफले, प्रा विद्या म्हशाखेत्री, किरण चौधरी, विमल भोयर, रेखा समर्थ, रेखा चीमुरकर, रूचित वांढरे, राहुल भांडेकर, नंदू वाईलकर आदि उपस्थित थे. 

आरमोरी : तहसीलदार को भेजा ज्ञापन

आरमोरी के तहसील कार्यालय के समक्ष आंदोलन कर तहसीलदार के मार्फत मांगों का ज्ञापन भेजा गया. इस आंदोलन में ओबीसी महासंघ के तहसील अध्यक्ष चेतन भोयर, उपाध्यक्ष प्रवीण ठेंगरी, सचिव मिथुन शेबे, संदीप राऊत, मनीष राऊत, मिलिंद खोब्रागड़े, गुलाब मने, आशीष मने, विलास गोंदोले, मधुसूदन चौधरी, मंजुषा दोनाडकर, रिंकू झरकर, विजय सुपारे, प्रा डा केटी किरणापुरे, हरेष बावनकर, पंकज खरवडे, जीतू ठाकरे, कृष्णा खरकाटे, संध्या टिचकुले, इंटक के अध्यक्ष विनोद पटोले, देसाईगंज के पूर्व नगराध्यक्ष जेसा मोटवानी, कांग्रेस के आरमोरी तहसील अध्यक्ष मनोज वनमाली, वामनराव सावसागड़े, जिप सदस्य मनीषा दोनाडकर, पूर्व पंस सभापति अशोक वाकड़े, मिलिंद खांदेशकर, रोशनी बैस, शालिकराम पत्रे, डा. संगीता रेवतकर आदि उपस्थित थे. 

बड़ी संख्या में शामिल हुए ओबीसी बांधव

कोरची (सं) यहां आयोजित आंदोलन में नंदकिशोर वैरागडे, डा. नरेश देशमुख, पूर्व उपसभापति गोविंद दरवडे, मधुकर नखाते,  मोहुले, आसाराम सांडील, राष्ट्रपाल नखाते, गणेश शेंडे, अशोक गावतुरे, नशीर नागमोती, संजय दोनाडकर, प्रदीप चापले, अंकुश चोपकार व ओबीसी समाज बांधव सहभागी हुए थे. 

मुलचेरा में भी प्रदर्शन

 मुलचेरा में तहसीलदार के मार्फत ज्ञापन भेजा गया. इस दौरान मुलचेरा ओबीसी महासंघ के अध्यक्ष देवाजी चौधरी, गणेश बंकावार, ललीतकुमार शनवारे, महेश गुंडेटीवर, संदीप भोयर, गणेश गारघाटे, आखाडे, चिदमवार, आकाश तुरणकार, आशीष चनकापुरे, हेमंत सपाटे, अक्षय खिरटकर, प्रा. निरज चापले उपस्थित थे.

एटापल्ली यहां के आंदोलन में सचिन मोतकुरवार,  प्रा. कोंगरे, उपेश सुरजागडे, नागराज चिमटपवार, राकेश मुकेरवार, वासुदेव चनकापुरे, प्रा. वडस्कर, प्रा. बारसागडे, प्रा. डांगे, रवी रामगुंडेवार समेत अनेक ओबीसी बांधव सहभागी हुए थे. 

चामोर्शी : उपविभागीय अधिकारी को भेजा ज्ञापन

 राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ की ओर से उपविभागीय कार्यालय चामोर्शी में ओबीसी बांधवों के विभीन्न मांगो को लेकर उपविभागीय अधिकारी को ज्ञापन भेजा गया. ज्ञापन सौंपते समय दिवाकर कोहले, शिवराम मोंगरकर, संजय लोणारे, राकेश खेवले, गोकुलदास झाडे, कवडू येमजेलवार, सदाशिव वाघरे, वामन किणेकर, अतुल दुधबले, आष्टी के कपील पाल, अचूत्त कुनघाडकर, संतोष चावरे, वासुदेव लोथे, नामुदेव कापगते, दिलीप सोमानकार, दिवाकर बुरे, निलेश वासेकर, मिथुन कुनघाडकर, देवानंद लोनगाडगे, राजेश नांदगिरवार, उमाकांत बुरे, विनोद वैरागडे, दोलीप चितारकर, सुनील कुकडकर आदि ओबीसी बांधव उपस्थित थे. 

देसाईगंज में भी दिया गया ज्ञापन 

राष्ट्रीय ओबीसी महासंघ देसाईगंज की ओर से तहसील कार्यालय के सामने मांगों का ज्ञापन प्रस्तुत किया गया . आंदोलन में लोकमान बरडे, पंकज धोटे, प्रदीप तुपट, विनायक अलोणे, ज्ञानेश्वर कवासे, धनराज अहिकर, मनोहर राऊत, नितेश पाटील, अरुण कुंभलवार, धनपाल मिसार, अर्चना ढोरे, पंकज ढोरे, सचिन खरकाटे, रेवता अलोने, कल्पना कापसे, विलास ठाकरे, राजू बुल्ले, दिलीप नाकाड़े, रमाकांत ठेंगरी, अविनाश ठाकरे, जावेद शेख व ओबीसी समाज बांधव सहभागी हुए थे.