मुंबई में रहकर भी जिले पर विशेष नजर – शिंदे

  • पालकमंत्री ने लिया विकासकार्यो का जाएजा

गडचिरोली. गडचिरोली जिले के विभीन्न विकासकार्यो के संदर्भ में दैनदिन स्वरूप में जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों ने नितदीन वार्तालाप जारी है. मुंबई में मंत्रालय में होने के बावजूद मेरा गडचिरोली जिले पर विशेष नजर है. आगामी समय में जिले में रोजगार व विकासकार्यो में बदलाव लाया जाएगा. ऐसा कथन राज्य के नगरविकास व लोकनिर्माण (सार्वजनिक उपक्रम) मंत्री  तथा जिले के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने किया. 

जिलाधिकारी कार्यालय के नियोजन भव में पालकमंत्री ने जिले के विभीन्न विषयों पर जाएजा बैठक ली. इस समय वे बोल रहे थे. इस दौरान जिलाधिकारी दिपक सिंगला, पुलीस अधीक्षक शैलेश बलकवडे, जिप अध्यक्ष अजय कंकडालवार, सांसद अशोक नेते, जिप के सीईओ कुमार अशिर्वाद, विधायक धर्मरावबाबा आत्राम, विधायक डा. देवराव होली, जिप उपाध्यक्ष मनोहर पोरेटी आदि प्रमुखता से उपस्थित थे. 

इस समय पालकमंत्री शिंदे ने कहां कि, दुर्गम व नक्सल प्रभावित क्षेत्र के प्रत्येक नागरिकों को विकास की मुख्य धारा से जोडने के लिए दुर्गम क्षेत्र में विकासकार्य पर प्रभावी अमल करते हुए बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराएं व यह कार्य दर्जायुक्त रहना आवश्यक है, नक्सलवाद को कम करने दुर्गम क्षेत्र के जनता को सुविधाओं की आपूर्ति करना आवश्यक है. जिले के लोगों को रोजगार मिले तथा वित्तीय चलन बढे इसलिए विभीन्न कार्य, योजना तथा प्रकल्प शुरू करने के लिए सरकार जिले के साथ है.  बिजली, सडके, पुलिया, पेयजन, स्वास्थ्य सुविधाएं इसमें से प्रत्येक घटकों पर प्रभावित अमल होने पर स्थानीय नागरिक विकास की दिशा में मार्गक्रमण करेगा, आवश्यक प्रस्ताव सरकार की ओर भेजे उस संदर्भ में तत्काल निर्णय लियाज ऐसी बात भी उन्होने कहीं.  इस दौरान विकासकार्यो में रूकावटे निर्माण करनेवाले ठेकेदार अथवा अधिकारी, कर्मचरीयों पर आवश्यक पडने पर कार्रवाई की जाएगी. ऐसी बात भी कहीं. विभीन्न प्रलंबित कार्यो को लेकर पालकमंत्री ने राज्य के वनमंत्री राठोड से दुरध्वनी संवाद कर विकासकार्यो पर चर्चा की. 

कोरोना की स्थिती का लिए जाएजा
इस बैठक के दौरान जिले के कोविड-19 प्रादुर्भावा के संदर्भ में स्थिती का जाएला लिया. जिले की स्थिती नियंत्रण में होकर इसके लिए प्रशासन की प्रशंसा भी की. भविष्य में और कार्य करना बाकी है. ऐसी बात कहीं. कोरोना की जांच की संख्या बढाने के संदर्भ में उन्होने सुचनाएं दी.  इसके साथ्ज्ञ ही जिले में मलेरीयां के नियंत्रण हेतु भी तत्काल उपाययोजना करने के निर्देश दिए. 

नहीं होने देंगे निधी की कमी
दुर्गम क्षेत्र के महत्वपूर्ण व बुनियादी विकासकार्यो के लिए निधी की कमी नहीं होने देंगे, मंजूर कार्य तत्काल पूर्ण करे व आवश्य ककार्यो के लिए प्रस्ताव भेजे ऐसी सुचना भी पालकमंत्री ने इस समय की. इस समय वडसा से गडचिरोली के दौरान होनेवाले रेल्वे मार्ग के कार्यो के संदर्भ में चर्चा की.