tendupatta

  • जिमलगट्टा ग्रापं परिसर के मजदूरों के हालात

गडचिरोली. अहेरी तहसील के जिमलगट्टा ग्राम पंचायत अंतर्गत आनेवाले अनेक मजदूरों ने इस वर्ष मई 2020 में तेंदूपत्ता सीजन में तेंदूपत्ता संकलन का कार्य किया. मात्र इन सीजन के बोनस की राशी अबतक इन मजदूरों को नहीं मिली है. जिससे मजदूर वित्तीय संकटों में फंसे है. जिससे तेंदूपत्ता बोनस की राशी तत्काल दे, ऐसी मांग जिमलग‍ट्टा ग्रापं अंतर्गत आनेवाले ग्रामीणों ने की है. 

मई 2020 में संपन्न हुए तेंदूपत्ता सीजन में प्रति पुडा 8 रुपये 50 पैसे के तहत मजदूरी दी गई. इसमें 4 रुपये नगद  स्वरुप में राशी दी गई, तो 4 रूपये 50 पैसे बोनस के स्वरूप में मजदूरों के बैंक खाते में जमा होगी, ऐसी बात ठेकेदार द्वारा कहीं गई. जिमलगट्टा ग्रापं अंतर्गत आनेवाले 5 गांवों के मजदूरों ने इसके तहत तेंदूपत्ता संकलन किया. मात्र तेंदूपत्ता ठेकेदार बापु रेडी द्वारा कहें अनुसार बोनसी की 4 रूपये 50 पैसे यह राशी तेंदूसंकलन के 7 माह बाद भी स्थानीय मजदूरों को प्राप्त नहीं हुई है. जिससे तेंदू संकलन करनेवाले मजदूर संकटों से घिरे है. 

फिलहाल समुचे विश्व पर कोरोना जैसे बिमारी का प्रादुर्भाव बढा है. जिले में भी कोरोना का उद्रेक बढता दिखाई दे रहा है.  जिससे इस कालावधि में रोजगार के सभी कार्य बंद होने से गरीब, मेहनती, मजदूर हवालदिल हुआ है. उन्हे रोजगार भी नहीं मिला है. जिसेस पहले ही उसपर संकटों के पहाड टुट पडे है. ऐसे में तेंदूपत्ता बोनस की राशी मिलने पर कुछ मात्रा में उनकी परेशानी कम होगी, ऐसी आंस तेंदूपत्ता मजदूरों को थी. तेंदूपत्ता बोनस की राशी मिलने पर बच्चों की शिक्षा के लिए कपडे, किताबे व अन्य जीवनावश्यक साहित्य खरीदी करेंगे ऐसी आंस मजदूरों ने रखी थी. मात्र बोनस की राशी के अभाव में तेंदूपत्ता संकलन मजदूर पूर्णत मायुस दिखाई दे रहा है. संबंधित ठेकेदार तत्काल बोनस की राशी मजदूरों के खाते मं जमा करे या नगद स्वरूप में दे, ऐसी मांग जिमलगट्टा परिसर के तेंदूपत्ता संकलन करनेवाले मजदूरों द्वारा हो रही है. 

7 माह से बोनस की राशी बकाया 

जिमलगट्टा ग्रामपंचायत अंतर्गत आनेवाले 5 गांवों के तेंदूपत्ता मजदूरों ने युनिट अंतर्गत मई 2020 में तेंदूपत्ता संकलन किया है. मात्र तेंदूपत्ता संकलन कर करीब 8 माह का कालावधि बितने के बावजूद मजदूरों को बोनस नहीं मिला है. कोरोना महामारी में बोनस की राशी नहीं मिल रही है, तो कब मिलेगी? ऐसा सवाल मजदूरों द्वारा पुछा जा रहा है. इतना ही नहीं तो परिसर के युनीट के मजदूरों को राशी मिली. मात्र जिमलगट्टा ग्रामपंचायत के ही क्यों नहीं मिली, ऐसा सवाल करते हुए संबंधित तेंदूपत्ता ठेकेदार मजदूरों की की समस्याओं को ध्यान मं लेते हुए तत्काल बोनस की राशी देकर आदर्श निर्माण करे, ऐसी मांग हो रही है.