File Photo
File Photo

    गोंदिया. जिले में खरीफ मौसम की तैयारी में किसान जुट गए हैं. जिले में खरीफ मौसम में 1,86,431 हेक्टर क्षेत्र में धान की बुआई की जाती है जिससे इस खरीफ मौसम के लिए कृषि विभाग ने 48,960 क्विंटल बिजाई व 97,704 मीट्रिक टन खाद की मांग की है. जिले में धान प्रमुख फसल है. बड़े पैमाने पर धान का उत्पादन लिए जाने से जिले को धान का कटोरा कहा जाता है. विशेष बात यह है कि जिले के अधिकांश किसान धान की खेती करते हैं.

    जिले में इस बार 1 लाख 86 हजार 431 हेक्टर क्षेत्र में धान की बुआई की जाएगी. उस दृष्टि से कृषि विभाग को बीजाई व खाद के नियोजन करने पड़ता है. इसके अनुसार इस बार कृषि विभाग ने खरीफ मौसम के लिए 48,960 क्विंटल बिजाई की मांग की है. वहीं किसानों को लगने वाले खाद के लिए 97,704 मीट्रिक टन खाद की मांग की है.

    उल्लेखनीय है कि मांग वाले 48,960 क्विंटल बिजाई में से 23,367 क्विंटल बिजाई की पूर्ति की गई है. इसी तरह 97,704 मीट्रिक टन खाद की मांग की गई है. इसमें केवल 8132 मीट्रिक टन खाद की पूर्ति की गई है. जबकि गत वर्ष 15,857 मीट्रिक टन खाद शेष होने से फिलहाल 23,989 मीट्रिक टन स्टॉक उपलब्ध है.