Rani Avantibai Ward

तिरोड़ा. रानी अवंतीबाई वार्ड के नागरिक नप द्वारा संचालित पाठशाला अमर शहीद विरांगना रानी अवंतीबाई से संतोष लिल्हारे के मकान तक मिट्टी भरे रास्ते से आना जाना करते हैं. जिससे नागरिकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. रास्ते पर कीचड़ होने से मोटरसाइकिल चालक सतत गिर रहे हैं.

इस रास्ते की लंबाई में कीचड़ वाला हिस्सा 600 फीट दूरी का होने के बावजूद कई बार नप पदाधिकारी व अधिकारियों को बताया गया केवल खानापूर्ति के लिए अभियंताओं को मौके पर भेजकर केवल इस्टीमेट बनाने का दिखावा किए जाने के क्रम को सतत 3 वर्ष हो चुके है, लेकिन कोई हल नहीं निकल पा रहा है.

शिवमंदिर से दसाराम बाभरे के मकान तक का 200 फीट का रास्ता, चामुंडा जरीभरी माता मंदिर से नाना लिल्हारे के मकान तक 100 फीट के रास्तों की भी हालात खराब है. जिससे यहां के नागरिकों को काफी तकलीफों का सामना बारिश में करना पड़ता है. 

उल्लेखनीय है कि यह मार्ग 15 वर्ष सांसद प्रफुल पटेल की सांसद निधि से गिट्टीकरण  व डामरीकरण किए गए थे. 

मार्ग दुरुस्ती की ओर अनदेखी
नागरिकों के अनुसार इस प्रभाग से 2 पार्षद होने के साथ ही नगराध्यक्ष भी आम जनता के वोटों से निर्वाचित हुए है, उन्हें भी इस समस्याओं से अवगत किया गया, लेकिन इस वार्ड के जो अच्छे सीमेंट के रास्ते है उन पर तीन से 4 वर्ष के बाद सीमेंटीकरण का 20 एमएम चुरी का लेयर बिछा दिया जाता है. जबकि जो खराब मार्ग है उसकी दुरुस्ती की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. इन रास्तों पर 40 एमएम से प्रारंभ करना पड़ेगा. इसमें समझ ने लायक यही मुख्य कारण है. नप में करोड़ों की निधि आती है फिर भी आज तक कोई स्थायी तौर पर कुछ नहीं हुआ.  रास्ता नहीं बनाने पर नागरिकों ने आंदोलन की चेतावनी दी है.