कोरोना काल में दिवाली मानते समय ज़रूर ध्यान रखें इन बातों का, अन्यथा हो सकती है परेशानी

इस साल दिवाली की धूम इतनी ज़्यादा देखने को नहीं मिल पाएगी, जितनी हम हर साल देखते हुए आए हैं। ऐसा इसलिए है क्यूंकि कोरोना महामारी ने विश्वभर के हाल-बेहाल कर रखे हैं। ऐसे में अगर आप दिवाली मनाने जा रहे हैं तो बहुत सी बातों का ख्याल ज़रूर रखें। ध्यान रखें कि कई रिसर्च में यह साबित हुआ है कि एयर पॉल्यूशन कोरोना के खतरे को बढ़ाता है। इसलिए बिना मास्क पहने कहीं नहीं जाना। इसलिए दिवाली को सेलिब्रेट करें लेकिन कोविड-19 को नज़रअंदाज़ न करें। तो आइए आज आपको बताएं किन बातों का ध्यान रखना है ज़रूरी..

दीया या मोमबत्ती जलाने से पहले सैनेटाइज़र का इस्तेमाल न करें-
सीनियर पल्मोनोलोजिस्ट डॉ. राजेश चावला बताते हैं कि, दीया या मोमबत्ती जलाने से पहले अल्कोहल से बना सैनेटाइज़र का यूज़ भूलकर भी न करें। क्यूंकि यह आग पकड़ सकता है और आपके साथ दुर्घटना भी हो सकती है। ध्यान रहे सैनेटाइज़र लगाने के 15 से 20 मिनट बाद ही आप दीया जलाएं। इसके अलावा अगर आप साबुन से अपने हाथ धोते हैं तो बेहतर होगा। 

अपने साथ इन्हेलर और दवाएं लें-
दिवाली के दिन लोग पटाखें ज़रूर फोड़ते हैं। ऐसे में सांस के रोगियों को परेशानी हो सकती है। इसलिए इनका ध्यान रखना बेहद ज़रूरी होता है। सांस के रोगी इस दिन खासतौर पर अपने साथ इन्हेलर और ज़रूरी दवाएं जरूर रखें। वहीं कोविड-19 से ठीक हुए हैं मरीज़ भी दिवाली अपने घर में ही सेलिब्रेट करें तो ज़्यादा अच्छा होगा।