‘विश्व हृदय दिवस 2020’- जानें इस दिन का इतिहास, महत्त्व और थीम 

हृदय हमारे जीवन के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, इसके बिना जीवन ही असंभव है। हृदय संबंधी जागरूकता फैलाने के लिए पूरे विश्व में हर साल 29 सितंबर को हृदय दिवस मनाया जाता है। इस आयोजन की पहल विश्व हृदय संघ के निदेशक ने 1999 में आंटोनी बेस दे लुना ने डब्ल्यूएचओ (WHO) के साथ मिलकर की थी।

विश्व हृदय दिवस (World heart Day) आज यानी 29 सितंबर को पूरे विश्वभर में मनाया जाएगा। इस दिन लोगों को दिल से जुड़ी महत्वपूर्ण बातों के बारे में बताया जाता है, साथ ही लोगों द्वारा पालन की जाने वाली अस्वास्थ्यकर आदतों पर ध्यान केंद्रित करने और उन्हें अपनी जीवन शैली में उचित बदलाव करने के लिए मनाया जाता है। इस दिन, स्वास्थ्य संगठनों द्वारा लोगों को स्वस्थ खाने के महत्व, अधिक व्यायाम करने, धूम्रपान छोड़ने और अपने स्वास्थ्य को बनाए रखने के बारे में जागरूक किया जाता है।

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में इस दिन का बहुत महत्त्व है। क्यूंकि इस दिन हृदय से जुड़ी कई खास चीज़ों के बारे में जानने का मौका मिलता है। वहीं आज के दौर में अक्सर लोग तनाव, गलत खान-पान, स्मोकिंग, एल्कोहल और गुस्से की वजह से दिल पर एक्सट्रा दबाव बनता है, जिससे दिल सुचारु रुप से कार्य नहीं कर पाता और लोगों में दिल की बीमारियों के साथ हाई बी.पी, हाई कोलस्ट्रॉल और अन्य बीमारी देखने को मिलने लगती हैं। दिल की बीमारी अब कम उम्र वालों को भी होने लगी है। इन सबका कारण लोगों के बीच बढ़ता तनाव हो सकता है। 

विश्व हृदय दिवस का इतिहास (World Heart Day History)-

विश्व हृदय दिवस मनाने की शुरुआत साल 2000 में की गई थी। उस समय यह तय किया गया था कि हर साल सितंबर के आखिरी रविवार को विश्व हृदय दिवस मनाया जाएगा। लेकिन 2014 में इसके लिए 29 सितंबर को एक निश्चित तारीख निर्धारित कर दी गई। तब से हर वर्ष 29 सितंबर को विश्व हृदय दिवस मनाया जाता है। इस दिन लोगों को हृदय की बीमारी (हर्ट स्ट्रोक, हर्ट अटैक और हर्ट फेल्योर) के बारे में बताया जाता है और उन्हें स्वस्थ रहने के लिए जागरूक किया जाता है। 

इस दिन वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन 100 से अधिक विकसित और विकासशील देशों के साथ गैर-सरकारी संगठन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, दिल की बीमारी से हर साल लगभग 17.9 मिलियन लोगों की मौत हो जाती है। यह वैश्विक मृत्यु दर का 31 फीसदी हिस्सा है। जो बेहद ही भ्यावह है।  

विश्व हृदय दिवस कामहत्व (World heart Day Significance)-

हृदय संबंधी मुद्दों के कारण उच्च मृत्यु दर को देखते हुए, हमारे लिए विभिन्न हृदय रोग और कारकों को समझना महत्वपूर्ण है, जो एक व्यक्ति को उच्च जोखिम में डालते हैं। इसका उद्देश्य लोगों को दिल से जुड़ी समस्याओं के बारे में शिक्षित करना है। ताकि तंबाकू के उपयोग, अस्वास्थ्यकर आहार और शारीरिक निष्क्रियता जैसे जोखिम वाले कारकों को नियंत्रित करके, हृदय रोग और स्ट्रोक से कम से कम 80% मौतों को रोका जा सके।

विश्व हृदय दिवस 2020 थीम (World heart Day 2020 Theme)-

हृदय रोग और स्ट्रोक सहित हृदय विकार (सीवीडी), दुनिया भर में मृत्यु के प्रमुख कारण हैं। दिल से जुड़ी बीमारियों के कारण हर साल लगभग 17.9 मिलियन लोग मारे जाते हैं। इन्हीं सब चीज़ों को देखते हुए इस साल विश्व हृदय दिवस 2020 का ‘यूज़ हार्ट टू बीट कार्डियोवस्कुलर डिजीज’ (Use Heart To Beat Cardiovascular Disease) है।