Mehul Choksi Updates: Dominica Court refuses to grant bail to Mehul Choksi

    नयी दिल्ली. एंटीगुआ एंड बारबूडा (Antigua and Barbuda) के मंत्रिमंडल ने एक बैठक (cabinet meeting) में निर्णय लिया कि भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को डोमिनिका (Dominica) से सीधे भारत वापस भेज दिया जाना चाहिए। मंत्रिमंडल के निर्णय के बारे में स्थानीय मीडिया द्वारा प्रकाशित खबर से पता चलता है कि “चोकसी से जुड़ा मामला” बुधवार को हुई बैठक में चर्चा के विषयों में से एक था।

    मीडिया के अनुसार बैठक में माना गया कि चोकसी अब डोमिनिका की “समस्या” है और यदि वह एंटीगुआ एंड बारबूडा वापस आता है तो कैरीबियाई देश के लिए “समस्या फिर लौट आएगी।” एंटीगुआ एंड बारबूडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउने की अध्यक्षता में हुई बैठक में सभी मंत्री भौतिक और डिजिटल रूप से शामिल हुए।

    मीडिया प्रतिष्ठान ‘एंटीगुआ ब्रेकिंग न्यूज’ ने कहा कि मंत्रिमंडल की बैठक में निर्णय किया गया कि कानून प्रवर्तन अधिकारी एंटीगुआ से चोकसी के “बाहर जाने” संबंधी परिस्थितियों के बारे में खुफिया जानकारी जुटाना जारी रखेंगे।

    मंत्रिमंडल के निर्णय के ब्योरे में कहा गया, “एंटीगुआ एंड बारबूडा का मंत्रिमंडल इस बात को प्राथमिकता देता है कि चोकसी को डोमिनिका से सीधे भारत भेज दिया जाना चाहिए।”

    चोकसी 23 मई को रहस्यमय तरीके से एंटीगुआ एंड बारबूडा से लापता हो गया था जहां वह नागरिक के रूप में 2018 से रह रहा था। उसे पड़ोसी द्वीप देश डोमिनिका में अवैध रूप से प्रवेश करने के आरोप में हिरासत में लिया गया। ऐसा कहा जाता है कि वह अपनी कथित प्रेमिका के साथ रोमांटिक तरीके से एंटीगुआ एंड बारबूडा से लापता हो गया था। (एजेंसी)