MODI

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर तमाम वैश्विक नेताओं, अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं और शख्सियतों से आह्वान किया कि योग का अभ्यास करते रहें और एक स्वस्थ धरती का निर्माण करें। संयुक्त राष्ट्र के एक ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया भर में लोगों ने योग दिवस को पूरे उत्साह के साथ रेखांकित किया। कोरोना वायरस महामारी के कारण इस साल के योग दिवस का थीम था ‘घर में योग, परिवार के साथ योग।” प्रधानमंत्री ने कहा कि इस साल की थीम के मुताबिक ही लोगों ने घरों में अपने परिवार के साथ योग दिवस मनाया।

मोदी ने ट्वीट किया, ” आइए योगाभ्यास करते रहें और एक स्वस्थ धरती का निर्माण करें।” इससे पहले दिन में संयुक्त राष्ट्र ने कहा था कि कोविड-19 के बीच तनाव और एकांतवास का सामना कर रहे लोगों के लिए इससे निपटने में योग एक सशक्त उपाय साबित हो सकता है। उन्होंने कहा, ” शरीर को स्वस्थ बनाए रखने का भी यह एक कारगर तरीका है।” मोदी ने कहा कि वह योग के प्रति श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे और प्रधानमंत्री मंहिद्रा राजपक्षे का उत्साह देखकर बेहद प्रसन्न हुए। उन्होंने कहा, ” योग अपनाने के लिए श्रीलंका के लोगों का आभार। इसके बहुत सारे लाभ हैं।” एक अन्य ट्वीट में प्रधानमंत्री ने योग के प्रति उत्साह के लिए भूटान के प्रधानमंत्री लोतेय शेरिंग और भूटान की जनता का धन्यवाद किया।

उन्होंने कहा, ” योग के शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक लाभ से पूरी तरह संतुष्ट।” इससे पहले, शेरिंग ने कहा था कि यह एक ऐसे दिन का जश्न था जोकि महामारी के दौरान भावनात्मक, मानसिक और शारीरिक लाभ के कायाकल्प को प्रदर्शित करता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योग का समर्थन करने के लिए कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की पत्नी सोफी ट्रूडो का भी धन्यवाद दिया।

उन्होंने कहा, ” श्रीमति ट्रूडो के शब्द योग को वैश्विक स्तर पर मशहूर करने में काफी आगे ले जाएंगे।” सोफी ट्रूडो ने एक वीडियो संदेश में कहा था कि योग प्राचीन समृद्धि का एक महान तोहफा है और कनाडा ने बेहतर स्वास्थ्य लाभ के चलते इसे अपनाया है। संयुक्त राष्ट्र ने 11 दिसंबर 2014 को घोषणा की थी कि हर साल 21 जून को ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ मनाया जाएगा। (एजेंसी)