National education policy is going to lay the foundation of 21st century India: Modi

    नयी दिल्ली: केंद्र ने बृहस्पतिवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर मंद पड़ रही है और साथ उम्मीद जतायी कि आगामी दिनों में प्रतिबंधों में अधिक ढील देने के बावजूद भी मामलों में कमी जारी रहेगी। लेकिन साथ ही कहा कि अब भी उपचाराधीन मामले बहुत ज्यादा हैं। 

    केंद्र ने इस बात पर भी जोर दिया कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा प्रतिबंधों में किसी भी तरह की छूट को लेकर उचित समय पर चरणबद्ध तरीके से विचार किया जा सकता है। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वी के पॉल ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश के अधिकतर हिस्से में ज्यादा जांच के बावजूद नए मामलों और संक्रमण दर के लिहाज से दूसरी लहर स्थिर हो रही है। 

    स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या और गिरकर 24,19,907 हो गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 8.84 प्रतिशत है। गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड-19 के मौजूदा दिशा-निर्देशों को 30 जून तक जारी रखने का आदेश देते हुए उनसे कहा कि जिन जिलों में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या अधिक है, वहां पर गहन एवं स्थानीय स्तर पर नियंत्रण के उपाय किए जाएं। 

    एक नए आदेश में, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि नियंत्रण के उपायों को सख्ती से लागू करने से दक्षिण और पूर्वोत्तर के कुछ इलाकों को छोड़कर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में नए और उपचाराधीन मामलों में गिरावट आई। भल्ला ने कहा, “मैं इस बात पर प्रकाश डालना चाहूंगा कि गिरावट की प्रवृत्ति के बावजूद, वर्तमान में उपचाराधीन मामलों की संख्या अब भी बहुत अधिक है। 

    लिहाज़ा यह अहम है कि नियंत्रण के उपायों को सख्ती से लागू रखा जाए।” राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को जारी अपने आदेश में केंद्रीय गृह सचिव ने कहा कि स्थानीय हालात, जरूरत और स्रोतों का आकलन करने के बाद राज्य और केंद्र शासित प्रदेश उचित समय पर चरणबद्ध तरीके से पाबंदियों में किसी तरह की रियायत देने पर विचार कर सकते हैं। 

    भारत में पिछले 20 दिनों से कोविड-19 के नए मामलों में लगातार गिरावट दर्ज की गई है। साथ ही 24 राज्यों में पिछले एक हफ्ते में इलाजरत मरीजों की संख्या में भी कमी देखी गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, ‘‘भारत में पिछले 20 दिनों में कोविड-19 के नए मामलों में गिरावट दर्ज की गई है। 24 राज्यों ने पिछले एक हफ्ते में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में कमी की रिपोर्ट दी है।”

    मंत्रालय ने यह भी कहा कि कोविड-19 जांच को कई गुना बढ़ाया गया है जबकि पिछले तीन हफ्तों से कोविड-19 की साप्ताहिक संक्रमण दर में कमी देखी जा रही है। विभिन्न कोविड टीके की दूसरी खुराक लेने पर संभावित विपरीत प्रभाव पर मंत्रालय ने कहा, ‘‘अगर विभिन्न कोविड टीके की दूसरी खुराक ली जाती है, कोई बड़ा विपरीत प्रभाव पड़ने की संभावना नहीं है, लेकिन हमें इस संबंध में अधिक जांच और समझ की जरूरत है।” 

    केंद्र ने भारत में कोविड-19 से मौतों का अनुमान लगाने वाली न्यूयॉर्क टाइम्स की हालिया खबर को पूरी तरह से आधारहीन और झूठी बताया है। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 2,11,298 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,73,69,093 हो गई। वहीं, देश में संक्रमण के बाद लोगों के स्वस्थ होने की दर 90 प्रतिशत दर्ज की गई। 

    केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बृहस्पतिवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में संक्रमण से 3,847 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 3,15,235 हो गई। आंकड़ों के अनुसार, देश में बुधवार को 21,57,857 नमूनों की जांच की गई। (एजेंसी)

    देश में अभी तक कुल 33,69,69,353 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है और नमूनों के संक्रमित आने की दर 9.79 प्रतिशत है। इस बीच, जम्मू कश्मीर में कोविड-19 के 2769 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 2,81,628 हो गयी। केंद्र शासित प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 37 लोगों की मौत हो जाने से मृतक संख्या 3739 हो गयी है। 

    उपचाराधीन मरीजों की संख्या 42,272 है और 2,35,617 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, पंजाब में कोविड-19 के 3914 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 5,56,089 हो गयी। राज्य में पिछले 24 घंटे में 178 और लोगों की मौत हो गयी। अब तक कुल 14,004 लोगों की मौत हो चुकी है। पंजाब में 48,231 उपचाराधीन मरीज हैं। पिछले 24 घंटे में लुधियाना में सबसे ज्यादा 17 लोगों की मौत हो गयी। (एजेंसी)