Arvind Kejriwal

    नयी दिल्‍ली. जहाँ आज देश (India) में कोरोना (Corona) कि दूसरी लहर भरी पड़ रही है। वहीं अब इस महामारी के बेकाबू होते संक्रमण की रफ्तार को कम करने की दिशा में दिल्‍ली की केजरीवाल सरकार (Arvind Kejeriwal Goverment) ने आज एक बड़ा फैसला लिया है। जी हाँ, अब दिल्‍ली सरकार ने अगले आदेश तक शहर के शॉपिंग मॉल्‍स, जिम और स्‍पा सेंटर को बंद करने का बड़ा निर्णय लिया गया है। हालाँकि फिलहाल सिनेमा हॉल 30 प्रतिशत कैपिसिटी के साथ खोले जा सकते हैं। 

    मॉल्‍स, जिम और स्‍पा सेंटर्स अब होंगे बंद:

    विदित हो कि मॉल्‍स, जिम और स्‍पा सेंटर्स पर बड़ी संख्‍या में लोग जुटते हैं, ऐसे में कोरोना वायरस के फैलने का खतरा ज्‍यादा रहता है। इसको लेकर ही इन्हें बंद करने का निर्णय लिया गया है। वहीं अब कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कोरोना के  अनियंत्रित हालात को काबू में करने के लिए केजरीवाल सरकार वीकएंड लॉकडाउन (Weekend Lockdown in Delhi) लगाने का ऐलान भी कर सकती है। 

    हालाँकि इसका प्रमुख  उद्देश्‍य कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ना है। गौरतलब है कि CM केजरीवाल कई मौकों पर यह पहले भी कह चुके हैं कि उनकी लॉकडाउन लगाने की बिल्कुल भी इच्छा  नहीं है, ऐसे में लोग सावधानी बरतें। बता दें कि दिल्‍ली में पहले ही नाइट कर्फ्यू (Corona Curfew in Delhi) लगाया जा चुका है। वहीं अगर सूत्रों कि मानें तो अब  दिल्ली में वीकेंड लॉकडाउन के दौरान लोगों के घरों से बाहर निकलने पर सख्‍ती मनाही रहने वाली है । इसके अलवा बाकी दिनों के लिए नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा। वैसे  केजरीवाल सरकार कोरोना की तेजी से बिगड़े हालात से निपटने के लिए अपनी तरफ से लगातार प्रयास कर रही है।

    दिल्ली में कोरोना का भयंकर कहर :

    अगर हम आंकड़े देखें तो दिल्ली में फिलहाल कोरोना के नए आंकड़े सच में डराने वाले हैं। बीते 24 घंटों कि बात करें तो कोरना के 17 282 नए मामले सामने आए हैं और 104 लोगों की इसमें मौत भी हुई है। इस साल पहली बार यह  मौत का आंकड़ा 100 पार हुआ  है। वहीं अब दिल्ली में बीते  चार दिनों में ही 47 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मरीज मिल चुके हैं। गौरतलब है कि बीते मंगलवार को दिल्ली में मुंबई से भी ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज मिले थे। फिलहाल  दिल्ली में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 7, 67, 438 हो गई है। इनमें से 7, 05, 162 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं, कोरोना से अब तक 11, 540 लोगों की जान भी जा चुकी  है।