dhankar

नयी दिल्ली. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में कानून व्यवस्था को लेकर राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankar) की ओर से भेजी गई रिपोर्ट आज केंद्र को प्राप्त हुई है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। बता दें कि एक दिन पहले ही भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (J.P Nadda) के काफिले पर राज्य में हमला हुआ था जिसके बाद रिपोर्ट तलब की गई थी।

नड्डा के काफिले पर हुआ था हमला:

उन्होंने बताया कि नड्डा की दो दिवसीय पश्चिम बंगाल की यात्रा के दौरान कथित ‘सुरक्षा में गंभीर चूक’ को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की थी लेकिन राज्य ने अभी तक रिपोर्ट नहीं दी है। अधिकारी ने बताया, ‘‘गृह मंत्रालय को पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति के संबंध में राज्यपाल से रिपोर्ट प्राप्त हुई है।”

क्या है रिपोर्ट में: 

रिपोर्ट की सामग्री के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उसका अध्ययन किया जा रहा है। माना जा रहा है कि राज्यपाल ने पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति और राजनीतिक हिंसा और अन्य अपराधों पर राज्य सरकार के रुख के बारे में विस्तृत रिपोर्ट दी है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भांजे अभिषेक बनर्जी के लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र डायमंड हार्बर में बृहस्पतिवार को नड्डा के काफिले पर हुए हमले के बाद केंद्र ने राज्यपाल से रिपोर्ट तलब की थी।

क्या है धनखड़ का आरोप:

राज्यपाल धनखड़ ने छह दिसंबर को आरोप लगाया था कि पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार कानून के राज और शासन से दूरी बना रही है और संविधान के रास्ते से अलग चल रही है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय को भाजपा अध्यक्ष के दौरे के दौरान गंभीर सुरक्षा चूक पर अब तक राज्य सरकार से रिपोर्ट नहीं मिली है। उल्लेखनीय है कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के आरोपों को लेकर केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने बृहस्पतिवार को पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव से बात की थी। घोष ने गृह मंत्री अमित शाह को लिखी चिट्ठी में आरोप लगाया था कि नड्डा के कोलकाता में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों के लिए जानबूझकर राज्य पुलिस द्वारा सुरक्षा व्यवस्था में चूक की गई।