Anti Radiation Missile Rudram-1 Test

नई दिल्ली. भारत ने शुक्रवार को पहली स्वदेशी एंटी रेडिएशन मिसाइल रुद्रम-1 का सफल परीक्षण किया। इसे शुक्रवार सुबह करीब 10.30 बजे ओडिशा के बालासोर में एकीकृत परीक्षण रेंज से परीक्षण प्रक्षेपण किया गया। इस मिसाइल को सुखोई-30 फाइटर जेट के जरिये छोड़ा गया।

गौरतलब है कि भारतीय वायु सेना ने पिछले साल मई में एक सुखोई-30 फाइटर जेट से ब्रह्मोस मिसाइल के आकाशीय संस्करण का सफल परीक्षण किया था।

अधिकारीयों के अनुसार यह स्वदेशी मिसाइल भारतीय वायु सेना के रणनीतिक अस्त्र-शस्त्र भंडार में शामिल होगी। इस एंटी रेडिएशन मिसाइल रुद्रम-1 की स्पीड मैक दो यानी ध्वनि की स्पीड से दोगुनी है। यह मिसाइल जब वायु सेना में शामिल होने के लिए तैयार होगी तो इसे सुखोई लड़ाकू विमानों के साथ जोड़ा जा सकता है।

क्या है इसकी खासियत?

  • यह ऐसी स्वदेशी पहली मिसाइल है। यह किसी भी तरह के सिग्नल और रेडिएशन को पकड़ने और नष्ट करने में सक्षम है।

  • यह रेडियो फ्रीक्वेंसी छोड़ने या रिसीव करने वाले किसी भी टारगेट को निशाना बना सकती है।

  • लॉन्‍च स्‍पीड 0.6 से 2 मैक यानी 2469.6 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्‍यादा है। यानी मिसाइल आवाज की दोगुनी रफ़्तार से टारगेट को निशाना बना सकती है

  • इसकी रेंज इस बात पर निर्भर करती है कि फाइटर जेट कितनी ऊंचाई पर है। इसे 500 मीटर से लेकर 15 किलोमीटर की ऊंचाई से लॉन्‍च किया जा सकता है। इस दौरान यह मिसाइल 250 किलोमीटर के दायरे में मौजूद हर टारगेट को निशाना बना सकती है।

  • अगर दुश्‍मन ने रडार सिस्‍टम को शटडाउन कर दिया है, फिर भी टारगेट को बना सकती है निशाना

  • सीड ऑपरेशंस यानी Suppression of Enemy Air Defence को अंजाम दे सकती है। इस ऑपरेशन के तहत दुश्‍मन के एयर डिफेंस सिस्‍टम को पूरी तरह से नष्‍ट कर दिया जाता है।

  • यह मिसाइल लॉन्चिंग से पहले और उसके बाद भी टारगेट को लॉक कर सकती है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दी बधाई

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) को बधाई दी। उन्होंने कहा, “नयी पीढ़ी की  एंटी रेडिएशन मिसाइल (रुद्रम-1) भारत की पहली स्वदेश निर्मित एंटी रेडिएशन मिसाइल है जिसे डीआरडीओ ने वायु सेना के लिए विकसित किया है। इसका सफल परीक्षण आज बालासोर में आईटीआर से किया गया। डीआरडीओ और अन्य संबंधित हितधारकों को इस प्रशंसनीय उपलब्धि के लिए बधाई।”