Case filed against former MP minister for tweeting objectionable photo of paddy minister

इंदौर. पेट्रोलियम पदार्थों की मूल्यवृद्धि को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने बुधवार को कहा कि यह सरकार कोविड-19 के संकट काल में आम लोगों को आर्थिक मदद पहुंचाने के बजाय उन पर महंगाई का डंडा चला रही है। पटवारी ने पेट्रोलियम पदार्थों की मूल्यवृद्धि के खिलाफ यहां कांग्रेस की साइकिल रैली की अगुवाई की। इस दौरान उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “कोविड-19 के लॉकडाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में चली गयी है।

ऐसे में मोदी सरकार को मजदूरों, किसानों और आम लोगों की आर्थिक मदद करनी चाहिये। लेकिन यह सरकार पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के दाम बढ़ाकर जनता पर महंगाई का डंडा चला रही है।” इंदौर जिले के राऊ क्षेत्र से विधायक पटवारी प्रदेश कांग्रेस समिति के मीडिया विभाग के प्रमुख भी हैं। उन्होंने कहा, “अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम घटने के बाद भी देश में पेट्रोलियम पदार्थों के दाम बढ़ाये जा रहे हैं जिससे आम लोग बेहाल हैं। जनता के प्रति यह क्रूर रवैया किसी लोकतांत्रिक सरकार का हो ही नहीं सकता।”

पटवारी ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार “तानाशाही तरीके” से चलायी जा रही है। प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि इंदौर में कांग्रेस की साइकिल रैली के लिये केवल 10 लोगों को इस शर्त के साथ अनुमति दी गयी थी कि प्रदर्शनकारी कोविड-19 से बचाव के तमाम इंतजाम करेंगे। प्रदेश भाजपा प्रवक्ता उमेश शर्मा ने कांग्रेस नेताओं को “प्रचार के भूखे” बताते हुए आरोप लगाया कि उन्होंने साइकिल रैली के बहाने भीड़ जुटाकर अपने साथ ही अन्य लोगों की जान को भी खतरे में डाल दिया। शर्मा ने मांग की कि इस रैली में शामिल सभी कांग्रेस नेताओं की कोविड-19 की जांच करायी जानी चाहिये।(एजेंसी)