फांसी की नई तारिक पर निर्भय की माँ ने कहा, ” मुजरिम जो चाहते है, वही हो रहा”

नई दिल्ली. निर्भय के दोषियों के मामले पर सुनवाई करते हुए अदालत ने फांसी देने के नई तारिक दी है, जिसके अनुसार एक फरवरीको सुबह छह बजे चारों दोषियों को फांसी दी जाएगी. अदालत द्वारा नई तारिक देने पर

नई दिल्ली. निर्भय के दोषियों के मामले पर सुनवाई करते हुए अदालत ने फांसी देने के नई तारिक दी है, जिसके अनुसार एक फरवरीको सुबह छह बजे चारों दोषियों को फांसी दी जाएगी. अदालत द्वारा नई तारिक देने पर निर्भय की माँ ने विरोध जताया है. उन्होंने कहा कि, ‘ जो मुजरिम चाहते है, वही हो रहा’

नए डेथ वारंट का विरोध करते हुए निर्भय की माँ ने कहा, "जो मुजरिम चाहते थे वही हो रहा है। तारीख पे तारीख, तारीख पे तारीख… " सिस्टम को कटघरे में खड़े करते  हुए उन्होंने कहा कि, " हमारा सिस्टम ऐसा है कि जहां अपराधियों की सुनी जाती है।"

बतादे कि, अदालत ने निर्भय के आरोपी मुकेश कुमार सिंह ने याचिका दायर की थी जिसमे उसने फांसी की तारीख को 22 जनवरी से टालने की मांग की गयी थी।  इससे पहले तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने दिल्ली की अदालत से निर्भया मामले के चारों दोषियों के खिलाफ मौत की सजा पर अमल का फरमान (डेथ वॉरंट) फिर से जारी करने की मांग की थी। इस याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया.

इसके पहले आज सुबह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने निर्भय के दोषी मुकेश सिंह की दया याचिका ख़ारिज कर दी थी. दया याचिका ख़ारिज होने के बाद मुकेश के सभी क़ानूनी विकल्प ख़त्म होगए है. 

गौरतलब है कि, अदालत ने सात जनवरी को आरोपियों के खिलाफ़ डेथ वारंट जारी किया था. डेथ वारंट जारी होने के बाद मुकेश ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन भी दायर की थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था। उसके बाद मुकेश ने हाईकोर्ट में डेथ वारंट पर रोक लगाने वाली याचिका डाली थी, जिसे भी हाई कोर्ट ने ख़ारिज कर दिया था.