Narendra Modi

नयी दिल्ली. आज यानी रविवार को PM नरेन्द्र मोदी (Narendra मोदी) एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये भू-संपत्ति मालिकों को ‘स्वामित्व’ योजना के तहत संपत्ति कार्ड वितरित करने की योजना का शुभारंभ कर रहे  हैं। इस योजना के तहत अब लगभग एक लाख भू-संपत्ति मालिक अपने मोबाइल फोन पर SMS से प्राप्त होने वाले लिंक से अपना संपत्ति कार्ड आसानी डाउनलोड कर सकेंगे।

आइये जानें क्या हो रहा LIVE:

  • PM मोदी ने कहा कि, ” किसान और खेत मजदूर को मिल रही बीमा, पेंशन जैसी सुविधाओं से जिनको परेशानी है, वो आज कृषि सुधारों के विरोध में हैं. देश ने ठान लिया है कि गांव और गरीब को आत्मनिर्भर बनाना, भारत के सामर्थ्य की पहचान बनाना है. इस संकल्प की सिद्धि के लिए स्वामित्व योजना की भूमिका भी बहुत बड़ी है. दो गज की दूरी रहे, हाथ की साफ-सफाई बनी रहे और मास्क लगातार मुंह पर रहे, ये हमें सुनिश्चित करना है। याद रखिए, जबतक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं.”
  • PM मोदी ने कहा कि, “पिछले 6 वर्षों में पुरानी कमी को दूर करने के लिए लगातार बहुत काम किया जा रहा है. आज देश में बिना किसी भेदभाव, सबका विकास हो रहा है, वहीं पूरी पारदर्शिता के साथ सबको योजनाओं का लाभ मिल रहा है.”
  • PM मोदी ने कहा कि, “बीते 6 सालों से हमारे पंचायती राज सिस्टम को सशक्त करने के लिए जो भी प्रयास अब तक चल रहे हैं, उनको भी यह स्वामित्व योजना अब और मज़बूत करेगी.”

MODI

  • PM मोदी ने कहा कि, “गांव के कितने ही नौजवान हैं जो अपने दम पर कुछ अच्छा करना चाहते हैं. लेकिन घर होते हुए भी उन्हें, अपने घर के नाम पर बैंक से कर्ज मिलने में कई बार दिक्कतों का सामना करना पड़ता था. अब इस स्वामित्व योजना के तहत बने प्रॉपर्टी कार्ड को दिखाकर, बैंकों से बहुत आसानी से कर्ज मिलना सुनिश्चित हुआ है.”
  • PM मोदी ने कहा कि, ” जब संपत्ति का रिकॉर्ड होता है, जब संपत्ति पर अधिकार मिलता है तो नागरिकों में आत्मविश्वास बढ़ता है. जब संपत्ति का रिकॉर्ड होता है तो निवेश के लिए नए रास्ते खुलते हैं.” इसके साथ ही उन्होंने कहा कि,”पूरे विश्व के बड़े-बड़े एक्सपर्ट्स इस बात पर जोर देते रहे हैं कि जमीन और घर के मालिकाना हक की, देश के विकास में बड़ी भूमिका होती है.”
  • इस कार्ड को पाने वाले लोगो ने कहा कि संपत्ति कार्ड मिलने से उन्हें सामाजिक और आर्थिक रूप से मजबूती मिली है. PM के साथ बातचीत में कार्डधारकों ने यह भी कहा कि कहा कि इस कार्ड के जरिए उन्हें बैंक से आसानी से अब लोन मिलने लगे हैं, साथ ही गांवों में उनका संपत्ति का झगड़ा भी पूरी तरह से खत्म हो गया है.
  • PM मोदी ने कहा कि, “आत्मनिर्भर भारत अभियान में आज देश ने एक और बड़ा कदम उठा दिया है.” स्वामित्व योजना, गांव में रहने वाले हमारे भाई-बहनों को आत्मनिर्भर बनाने में बहुत मदद करने वाली है.”
  • अब PM मोदी ने स्वामित्व योजना के तहत कार्ड वितरण की शुरुआत की. उन्होंने कहा की, ” आज आपके पास एक अधिकार है, एक कानूनी दस्तावेज है कि आपका घर आपका ही है, और आपका ही रहेगा.”

MODI

  • PM मोदी ने कहा कि, ” आज जिन एक लाख लोगों को अपने घरों का स्वामित्व पत्र या प्रॉपर्टी कार्ड मिला है, जिन्होंने अपना कार्ड डाउनलोड किया है, उन्हें मेरी तरफ से बहुत-बहुत बधाई, आप खुश रहें.” 
  • PM मोदी इस समय बाराबंकी की रामरती से अपनी बात कर रहे हैं। रामरती ने मोदी से बात करते हुए कहा कि, “मेरे पति की 20 साल पहले ही मौत हो गई थी. कागज मिल जाने से अब कोई हमें हमारे घर से नहीं निकाल सकता.”

  • बातचीत के दौरान PM मोदी ने लाभार्थियों से कहा कि अब आपकी संपत्ति कोई गलत नजर डाल ही नहीं सकेगा.
  • PM मोदी इस समय स्वामित्व योजना के लाभार्थियों से सीधे बातचीत कर रहे हैं. वे इस योजना पर लोगों की राय जानने की कोशिश कर रहे हैं.
  • स्वामित्व कार्ड पाने वालों से चर्चा कर रहे PM मोदी.
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘स्‍वामित्‍व’ योजना के तहत बने प्रॉपर्टी कार्ड्स आज बांटेंगे. PM मोदी के एक बटन दबाते ही देशभर के करीब एक लाख प्रॉपर्टी मालिकों को एक SMS जाएगा. उसमें एक लिंक होगा जिसपर क्लिक कर वह अपना प्रॉपर्टी कार्ड आसानी से डाउनलोड कर सकेंगे.
  • महाराष्ट्र को करना होगा इसके लिए थोडा इन्तेजार.
  • 6 राज्यों के 763 गाँवों में बांटे जायेंगे संपत्ति कार्ड.
  • स्वामित्व योजना की शुरुआत की  PM मोदी ने.

क्या है यह स्वामित्व योजना आइये जानें 

बता दें कि केंद्र सरकार के पंचायती राज मंत्रालय की इस ख़ास योजना के अनुसार अब लाभार्थी इसका इस्तेमाल लोन आदि के आवेदन समेत अन्य आर्थिक लाभ के लिए कर सकेगा। इस योजना के तहत अब भू-संपत्ति मालिक अपने संपत्ति को वित्तीय संपत्ति के तौर पर भी इस्तेमाल कर सकेंगे। इस योजना के शुभारंभ के अवसर पर PM मोदी कुछ लाभार्थियों से चर्चा भी करेंगे। इसके साथ ही अब संबंधित राज्य सरकारें संपत्ति कार्ड का फिजिकल वितरण भी शुरू करेंगी। इस योजना के तहत अब 6 राज्यों के 763 गांवों के लोग लाभान्वित होंगे, जिसमें उत्तर प्रदेश के 346, हरियाणा के 221, महाराष्ट्र के 100, मध्य प्रदेश के 44, उत्तराखंड के 50 और कर्नाटक के 2 गांव भी शामिल होंगे। हालाँकि हाराष्ट्र को छोड़कर बाकी सभी राज्यों के लाभार्थी 1 दिन के अंदर फिजिकल कार्ड प्राप्त कर सकते हैं.