Navjot Singh Sidhu 01

    चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह (Amrinder Singh) और राज्य के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) से बीच मुलाकात से पहले सिद्धू की पत्नी ने बुधवार को कहा कि वह कोई पद नहीं चाहते बल्कि राज्य की जनता की सेवा करना चाहते हैं। नवजोत कौर सिद्धू (Navjot Kaur Sidhu) ने कहा कि वह और उनके पति इस कारण राजनीति में नहीं है।   

    उन्होंने साल 2016 में सिद्धू के भाजपा छोड़ने के फैसले की ओर इशारा करते हुए दावा किया, ”अगर ऐसा होता तो वह केन्द्रीय मंत्री बन गए होते।”  नवजोत कौर ने अपने पति और मुख्यमंत्री के बीच होने वाली बैठक से कुछ घंटे पहले पत्रकारों से यह बात कही। कयास लगाए जा रहे हैं कि सिद्धू को पंजाब के मंत्रिमंडल में वापस लाया जा सकता है। इससे पहले मुख्यमंत्री सिद्धू के साथ दोपहर के भोजन पर मुलाकात करने वाले थे, लेकिन कोविड-19 को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस से हुई बैठक के चलते शाम चार बजे चाय पर दोनों नेताओं के मिलने का कार्यक्रम तय हुआ।  

    इससे पहले दोनों नेताओं के बीच पिछले साल नवंबर में मुलाकात हुई थी। सिंह के साथ तल्खियां बढ़ने के कारण सिद्धू ने साल 2019 में पंजाब मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था।  नवजोत कौर सिद्धू ने कहा कि उनके पति कोई पद नहीं चाहते बल्कि वह पंजाब की सेवा सेवा करना चाहते हैं और जनता उनके साथ है।