OXYGEN Express, Railway
File Photo

    नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर पूरी तरह बेकाबू हो गई है। रोजाना लाखों मामले सामने आ रहे है। साथ ही मौत की संख्या में भी तेजी से इजाफा हो रहा है। रोजाना आ रहे नए मामलों ने चारों ओर अफरा-तफरी मचा दी है। कई हिस्सों में देखा जा रहा है कि मरीजों की मौत ऑक्सीजन और ऑक्सीजन बेड की कमी के कारण हो रही हैं। ऐसे में भारतीय रेलवे ने ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ (oxygen Express) चलाने का फैसला किया है। जिसके द्वारा देश भर में ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी।

    अधिकारी ने कहा कि, “रेलवे ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ चलाएगा। अगले कुछ दिनों में ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ के माध्यम से देश भर में तरल यानी लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलेंडर का परिवहन किया जाएगा।” उन्होंने कहा कि, “मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र की सरकारों ने रेलवे से संपर्क कर कहा कि वह लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन टैंकर के परिवहन पर विचार करें। जिसके बाद रेलवे ने ये फैसला लिया है।”

    रेलवे ने कहा कि, “महाराष्ट्र से खाली टैंकर सोमवार को चलेंगे जो विशाखापत्तनम, जमशेदपुर, राउरकेला, बोकारो से ऑक्सीजन उठाएंगे।

    इस कोरोना काल में कई राज्य के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी देखी जा रही हैं। जिसके चलते कई राज्यों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की मांग की है।

    162 ऑक्सीजन प्लांट होंगे तैयार

    वहीं रविवार को केंद्र सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए देश के हर राज्य में 162 ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना करने की घोषणा की है। इनमे से 33 प्लांट को कई राज्यों में स्थापित कर चुकी है। इस बात की जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी।

    मंत्रालय ने कहा, “सभी राज्यों में सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में स्थापना के लिए भारत सरकार द्वारा 162 पीएसए (दबाव स्विंग सोखना) ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किए गए हैं। ये चिकित्सा ऑक्सीजन क्षमता में 154.19 मीट्रिक टन वृद्धि करेंगे।”

    स्वास्थ्य मंत्रालय  ने बताया, “स्वीकृत 162 पीएसए प्लांटों में से, 33 पहले ही स्थापित हो चुके हैं – 5 एमपी में, 4 हिमाचल प्रदेश में, 3 प्रत्येक चंडीगढ़, गुजरात और उत्तराखंड में, 2 प्रत्येक बिहार, कर्नाटक और तेलंगाना। वहीँ आंध्रप्रदेश, छत्तीसगढ़,दिल्ली, हरियाणा, केरल, महाराष्ट्र, पुदुचेरी, पंजाब और उत्तर प्रदेश में एक- एक बनाया गया है।”