ashok gahlot

जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gahlot) ने राज्य के डूंगरपुर (Dungarpur) में युवाओं के हिंसक प्रदर्शन को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए प्रदर्शनकारियों से कानून व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग की अपील की है। इस बीच डूंगरपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या आठ पर आवागमन दूसरे दिन भी बाधित रहा। प्रदर्शनकारियों ने इलाके में स्थित एक पेट्रोल पंप में भी तोड़फोड़ की।

गहलोत ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ‘‘डूंगरपुर में उपद्रव व हिंसक प्रदर्शन बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। विरोध करने के संवैधानिक अधिकार का इस्तेमाल हो,शांतिपूर्ण प्रदर्शन हों लेकिन कानून को अपने हाथ में लेने का किसी को अधिकार नहीं है।” मुख्यमंत्री ने लिखा, ‘‘प्रदर्शनकारियों से मेरी अपील है कृपया शांति व कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग करें।”

गौरतलब है कि डूंगरपुर जिले में शिक्षक भर्ती 2018 के अनारक्षित रिक्त पदों को अनुसूचित जाति वर्ग से भरने की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन ने बृहस्तिवार को उग्र रूप ले लिया। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस दल पर पथराव किया और पुलिस वाहनों को आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने हालात पर काबू पाने के लिए हल्का बल प्रयोग भी किया। सूत्रों के अनुसार प्रदर्शनकारियों का प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार शाम यहां मुख्यमंत्री से मुलाकात कर सकता है। वहीं पुलिस सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार को उग्र प्रदर्शनकारियों ने एक पेट्रोल पंप पर तोड़फोड़ की।

पुलिस अब तक 30 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर चुकी है जबकि राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या आठ पर आवागमन बाधित रहने के कारण वहां फंसे वाहनों को अन्य मार्गों से निकाला जा रहा है। घटनास्थल पर मौजूदा एक पुलिस अधिकारी के अनुसार पुलिस प्रदर्शनकारियों को खदेड़ती है तो वे आसपास की पहाड़ियों पर चले जाते हैं और बाद में वापस आ जाते हैं। पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे हैं।