Sharan Pawar's reply to Rahul Gandhi, said - 'While talking about the current situation, do not forget the past'

नई दिल्ली: भारत-चीन सिमा विवाद को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सुप्रीमो शरद पवार ने शनिवार कांग्रेस नेता राहुल गाँधी को अतीत नहीं भूलने, और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों की राजनीति नहीं करने की नसीहत दी है. पवार ने यह टिप्पणी कांग्रेस नेता राहुल गांधी के उस आरोप के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में आई जिसमें कहा गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है.

आयोजित प्रेस वार्ता में एनसीपी सुप्रीमो ने कहा, “हम भूल गए कि 1962 में क्या हुआ था जब चीन ने हमारे क्षेत्र के 45,000 वर्ग किमी क्षेत्र पर कब्जा कर लिया था. वर्तमान में, मुझे नहीं पता कि उन्होंने किसी भूमि पर कब्जा किया है, लेकिन इस पर चर्चा करते समय हमें अतीत को याद रखने की आवश्यकता है. राष्ट्रीय सुरक्षा मामलों का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए.”

चीन ने किया दुस्साहस 
पवार ने कहा, ” लगता कि युद्ध की कोई संभावना है, लेकिन चीन ने निश्चित रूप से एक दुस्साहस किया है। गालवान में हम जिस मार्ग का निर्माण कर रहे हैं वह सीमा के हमारी तरफ है.”

 
बतादें कि 15 जून को भारतीय सैनिकों और चीनी सेना के बीच हुए झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए. जिसके बाद से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी प्रधानमंत्री मोदी और सरकार पर हमलावर है. रोजाना वीडियो के माध्यम से कांग्रेस पार्टी और राहुल गाँधी प्रधानमंत्री पर निशाना साध रहे है.