India is the most attractive global market for clean energy: Modi

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि जब से देश में अनलॉक-1 लागू किया गया है तब से लोगों के व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही बढ़ गई है। राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में इस स्थिति पर चिंता प्रकट करते हुए मोदी ने हर किसी से स्वास्थ्य दिशा-निर्देशों का पालन करने का आग्रह किया और कहा कि गांव के प्रधान हों या प्रधानमंत्री, कोई भी कानून से ऊपर नहीं हैं। मोदी ने कहा कि 25 मार्च को जब देश भर में लॉकडाउन की घोषणा हुई थी तब कानूनों का बहुत कड़ाई से पालन हुआ।

उन्होंने कहा, ‘‘दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है। समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है। लेकिन हम ये भी देख रहे हैं कि जब से देश में अनलॉक-1 हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढ़ती ही चली जा रही है ।” उन्होंने कहा कि पहले मास्क को लेकर, दो गज की दूरी को लेकर, 20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने को लेकर लोग बहुत सतर्क रहा करते थे। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन आज, जब हमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत है, तो लापरवाही बढ़ना चिंता का कारण है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब सरकारों को, स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है। विशेषकर निषिद्ध क्षेत्रों में हमें बहुत ध्यान देना होगा। प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील की कि जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें टोकना होगा, रोकना होगा और समझाना भी होगा। उन्होंने कहा, ‘‘अभी आपने खबरों में देखा होगा, एक देश के प्रधानमंत्री पर 13 हजार रुपये का जुर्माना इसलिए लग गया, क्योंकि वह सार्वजनिक जगह पर बिना मास्क पहने गए थे। भारत में भी स्थानीय प्रशासन को इसी चुस्ती से काम करना चाहिए।”

कोरोना के खिलाफ सरकार की ओर से उठाए जा रहे कदमों को 130 करोड़ देशवासियों के जीवन की रक्षा करने का अभियान बताते हुए मोदी ने कहा, ‘‘भारत में गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है।” केंद्र सरकार ने सोमवार रात ‘अनलॉक-2′ के लिए दिशा-निर्देश जारी किए और कहा कि शैक्षणिक संस्थान, मेट्रो रेल सेवाएं, सिनेमाघर तथा जिम अभी बंद रहेंगे। दिशा-निर्देशों में कहा गया कि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों (वंदे भारत मिशन के तहत), जो अभी सीमित रूप में जारी हैं, का चरणबद्ध तरीके से विस्तार किया जाएगा।

नए दिशा-निर्देश एक जुलाई से प्रभावी होंगे और चरणबद्ध रूप से गतिविधियां दोबारा शुरू करने की प्रक्रिया विस्तारित कर दी गई है। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से लागू लॉकडाउन में ढील देने के क्रम में पूर्व में ‘अनलॉक-1′ के तहत कुछ ढील दी गई थीं और अब सरकार ने ‘अनलॉक-2′ की घोषणा की है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ‘अनलॉक-2′ के तहत व्यापक दिशा-निर्देश जारी किए जो 30 जून को ‘अनलॉक-1′ के पूरा होने के बाद एक जुलाई से लागू होंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अब तक संक्रमण के मामलों की संख्या 5,66,840 बताई है। इसके अलावा मंत्रालय ने बताया कि 16,893 लोगों की मौत हुई है और उपचार के बाद 3,34,822 लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त हुए हैं।