vikas-khanchandani

मुंबई. मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क (Republic Media Network) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) विकास खानचंदानी (Vikas Khanchandani) को कथित TRP (Television Rating Points) घोटाले के सिलसिले में रविवार सुबह गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि खानचंदानी को पुलिस की अपराध खुफिया इकाई (सीआईयू) ने यहां उनके आवास से गिरफ्तार किया है। अधिकारी ने कहा कि उन्हें रिमांड के लिए अदालत में पेश किया जाएगा। ” ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल ” (BARK) ने कुछ चैनलों द्वारा टीआरपी में गड़बड़ी करने का आरोप लगाते हुए हंसा रिसर्च एजेंसी के जरिए शिकायत दर्ज कराई थी जिसके बाद पुलिस ने कथित घोटाले की जांच शुरू की थी।

कैसे होती है TRP चेकिंग: 

टीआरपी में कुछ घरों में मशीनों को लगाकर दर्शकों की संख्या का पता लगाया जाता है। इसकी रेटिंग विज्ञापन देने वालों को आकर्षित करने के लिए अहम होती है। बार्क ने कुछ घरों में टीवी के दर्शकों की संख्या रिकॉर्ड करने वाले बैरोमीटर लगाने और उनकी देख-रेख करने का जिम्मा हंसा को दिया हुआ है।

क्या हैं आरोप:

आरोप है कि जिन कुछ घरों में बैरोमीटर लगाए गए थे, उनमें से कुछ परिवारों को रिश्वत देकर टीवी पर कुछ विशेष चैनल चलाने के लिए कहा गया ताकि उनकी टीआरपी बढ़े। हाल में दायर किए गए आरोप पत्र में पुलिस ने आरोप लगाया है कि हंसा के एक अधिकारी ने बैरोमीटर वाले घरों को टीवी पर बॉक्स सिनेमा, फक्त मराठी, महा मूवी और रिपब्लिक टीवी चलाने के लिए पैसे दिए हैं। रिपब्लिक टीवी ने कुछ भी गलत करने की बात से इनकार किया है। पुलिस इस मामले में अब तक 13 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।