यूएई की कंपनी ने सेना को 93 हजार से अधिक कार्बाइन की आपूर्ति करने की प्रतिबद्धता दोहराई

नयी दिल्ली. संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की हथियार निर्माता कंपनी ”काराकल” ने एक सौदे के तहत भारतीय सेना को 93,895 कार्बाइन की आपूर्ति करने की अपनी प्रतिबद्धता एक बार फिर से दोहराई है। यह सौदा वर्ष 2018 से लंबित है। कंपनी ने सोमवार को एक बयान में जोर देते हुए कहा कि वह भारत की ‘मेक इन इंडिया’ पहल को लेकर प्रतिबद्ध है। यह बयान उन संकेतों के बीच आया है कि रक्षा मंत्रालय कार्बाइन खरीद के लिए इस सौदे को रद्द कर नई खरीद प्रक्रिया शुरू करने पर विचार कर रहा। बयान में कंपनी ने यह संकेत भी दिया कि वह भारत में काबाईन बनाने के लिये प्रौद्योगिकी हस्तांतरण सुनिश्चित करने को तैयार है।

बयान में कहा गया, ” काराकल ने पहले ही आवश्यक भूमि, सुविधा और स्थानीय साझेदारों की पहचान कर ली है जो तत्काल उत्पादन शुरू करने में सक्षम हैं। ‘कार्बाइन 816’ में लगने वाले 20 फीसदी से अधिक पुर्जे पहले ही भारत में निर्मित हैं और इसके साथ ही ‘मेक इन इंडिया’ पहल के अंतर्गत, काराकल अब इन राइफलों का निर्माण पूरी तरह भारत में करने को लेकर प्रतिबद्धता जता रहा है।” कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हमाद अल अमेरी ने कहा कि कंपनी को कार्बाइन का अनुबंध 2018 में एक व्यापक चयन प्रक्रिया के बाद दिया गया था। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान और चीन से लगी देश की सीमाओं पर उभरती सुरक्षा चुनौतियों को लेकर सेना विभिन्न रक्षा उपकरणों की खरीद प्रक्रिया में तेजी ला रही है। (एजेंसी)