Rupees

    नई दिल्ली. कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन Employees’ Provident Fund Organisation (EPFO) दिवाली (Diwali) से पहले कर्मचारियों को त्योहारी तोहफा देने जा रहा है। जल्दी ही फेस्टिव सीजन शुरू होने वाला है, ऐसे में कर्मचारियों की निगाह सरकार द्वारा त्योहारों के समय दिए जाने वाले नए-नए ऑफर्स पर टिकी रहती हैं। बता दें कि, EPFO दिवाली से पहले ही वित्त वर्ष 2020-21 का ब्याज (PF Interest) भुगतान दिवाली से पहले सदस्‍यों के खातों में कर सकता है।

    रिपोर्ट के अनुसार कर्मचारियों के पीएफ खाते में 8.5 प्रतिशत की दर से ब्याज डाला जा सकता है। नाम ना छापने की शर्त पर दो सरकारी अधिकारियों ने जानकारी दी है कि सरकार की ओर से जब कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के खातों में महंगाई भत्ता आएगा, संयोग से उसी वक्त EPFO ब्याज भी खातों में ट्रांसफर किया जायेगा।

    खाते में आएगा इतना ब्याज

    ईपीएफओ EPFO के केंद्रीय बोर्ड ने  8.5% ब्‍याज दर के लिए मंजूरी दे दी है। अब संगठन ने वित्‍त मंत्रालय से मंजूरी मांगी गई है। उम्‍मीद की जा रही है कि मंत्रालय भी जल्‍द ही अपनी मंजूरी दे देगा। फिस्कल ईयर 2020-2021 के लिए EPFO को जैसे ही वित्त मंत्रालय से 8.5% ब्याज पर मंजूरी मिलेगी वह कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के खातों में पैसा ट्रांसफर कर देगा।

    जानिए कितने खाताधारक

    बता दें कि EPFO 8.5% ब्याज दे रहा है जो दूसरी स्मॉल सेविंग्स के मुकाबले ज्यादा है। जनरल प्रोविडेंट फंड और पब्लिक प्रोविडेंट फंड पर 7.1% ब्याज मिलता है, जबकि नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट पर 6.8% का ब्याज मिल रहा है। EPFO के कुल सब्सक्राइबर की संख्या 6 करोड़ से ज्यादा है और यह कुल फंड का 15% इक्विटी में निवेश करता है और बाकी डेट में डालता है।

    पिछले साल हुई थी अच्छी आय 

    ईपीएफओ के केंद्रीय बोर्ड ने इस साल मार्च में वित्‍त वर्ष 2020-21 के लिए 8.5 प्रतिशत ब्‍याज दर की सिफारिश की थी। पिछले वित्‍त वर्ष में ईपीएफओ को 70,300 करोड़ रुपये की आय हुई, जिसमें अपने इक्विटी निवेश का एक हिस्‍सा बेचने से प्राप्‍त 4000 करोड़ रुपये भी शामिल है।