Case of kidnapping and extortion registered on 31 people including Girish Mahajan

  • बीएचआर घोटाले में लगाए जा रहे आरोपों पर दी सफाई

जलगांव. भाजपा के संकटमोचक विधायक गिरीश महाजन ने बीएचआर घोटाले में उन पर लगाए जा रहे आरोपों का खंडन किया है. उन्होंने कहा कि केवल राजनीतिक द्वेष की भावना से साजिश करके मुझे फंसाए जाने की कोशिश की जा रही है. भाईचंद हीराचंद रायसोनी (BHR) घोटाले से  मेरा कोई लेना-देना नहीं है. पुलिस की जांच में सच्चाई सामने आएगी. इस तरह की प्रतिक्रिया विधायक गिरीश महाजन ने मीडिया से बात करते हुए दी.

जामनेर के पूर्व नगराध्यक्ष पारस लालवानी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में पूर्व मंत्री गिरीश महाजन पर आरोप लगाया कि उन्होंने बीएचआर कॉपरेटिव बैंक की करोड़ों की संपत्ति को मिट्टी मोल भाव से कार्यकर्ताओं से नाम से खरीदा. उन्हें कार्यकर्ताओं को दे दिया, इस तरह का आरोप लगाया था.

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष तथा भाजपा के बागी विधायक अनिल गोटे ने गिरीश महाजन की तीखी आलोचना करते हुए कहा था कि तत्कालीन सरकार में महाजन जलगांव के पालकमंत्री थे, उनके बच्चे जिले में क्या गुल खिला रहे हैं कि उन्हें दिखाई नहीं दिया, इस तरह टिप्पणी की थी. आज इस बारे में जब गिरीश महाजन से संपर्क किया गया, तो उन्होंने कहा कि नियमों के अनुसार कानूनी लेनदेन BHR में हुआ है. उन पर लगाए गए आरोप पूरी तरह से झूठे हैं. एक बड़ी राजनीतिक साजिश है और पुलिस जांच में जल्द ही सच्चाई सामने आ जाएगी.