संविधान निर्माता को किया गया याद

जलगांव. भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर को चौंसठवें महापरिनिर्वाण दिवस पर भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर रक्तदान शिविर का आयोजन भी किया गया।  6 दिसंबर 1956 को बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर का निधन हुआ था। अर्थ, विधि, सामाजिक न्याय, राजनीति सहित विभिन्न क्षेत्रों में उनकी दूरगामी दृष्टिकोण और गहन शोध के लिए देश जानता है।

आंबेडकर के सपनों को पूरा करने कटिबद्ध

बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के 65वें महापरिनिर्वाण दिवस के मौके पर उन्हें याद किया गया है। रोहिणी खडसे खेवलकर ने कहा कि बाबा साहब भीमराव आंबेडकर के आदर्श लाखों लोगों को प्रेरणा और ताकत देते रहते हैं। इसके साथ ही उनका कहना है कि वह बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर के सपनों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इस अवसर पर भारतीताई सोनवणे महापौर, हाजी साहेब गफ्फार भाई मलिक, अभिषेक पाटिल,  सुनील खडके, मुकुंदभाऊ सपकाले, स्वप्निल नेमाडे, अशोक लाडवंजारी, राजूभाऊ मोरे सुनीलभैय्या माली  लीलाधर आदि उपस्थित थे।