पूर्व मंत्री खड़से ने छोड़ी भाजपा की प्राथमिक सदस्यता !

  • उनका मोबाइल बंद होने से बनी संभ्रम की स्थिति

वाहिद काकर 

जलगांव. रविवार को भाजपा के कद्दावर नेता एकनाथ खडसे ने सभी अटकलों को पूर्ण विराम देते हुए भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. उनके निकटवर्ती कार्यकर्ताओं के अनुसार, बुधवार 22 अक्टूबर को एकनाथ खडसे राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सुप्रीमो शरद पवार की प्रमुख उपस्थिति में एनसीपी में शामिल होंगे. वहीं, खडसे का मोबाइल बंद होने से पार्टी छोड़ने की अधिकृत पुष्टि नहीं हो सकी है.

सूत्रों की माने तो भाजपा के नाराज पूर्व राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे ने 2 दिन पहले ही भाजपा की सदस्यता का इस्तीफा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल को भेजा था. बताया गया है कि खड़से ने शनिवार को एनसीपी नेता और राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख के साथ सीधी बैठक की उस समय दोनों नेताओं के बीच चर्चा हुई. उसी समय उनके प्रवेश की पुष्टि की गई .

… तो गुरुवार को थामेंगे एनसीपी का दामन

खडसे के करीबी सहयोगियों ने गुरुवार को प्रवेश के बारे में एनसीपी के जिला पदाधिकारियों को फोन किया है.एनसीपी नेताओं ने भी इसकी पुष्टि की है, इसलिए यह कहा जा रहा है कि गुरुवार को मुंबई में पार्टी अध्यक्ष शरद पवार की उपस्थिति में खडसे भाजपा का दामन छोड़कर एनसीपी का दामन थाम लेंगे. इस दौरान खडसे ने खुद अभी तक अपने आधिकारिक इस्तीफे और एनसीपी में शामिल होने की घोषणा नहीं की है. हालांकि, उनके करीबी लोगों ने गुरुवार को उनके प्रवेश के बारे में जानकारी देनी शुरू कर दी है. गौरतलब हो कि पूर्व मुख्यमंत्री वर्तमान नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस 17 ऑक्‍टोबर को ज़िले के दौरे पर आए थे इस मौके पर खड़से उनसे मिले भी नहीं थे. वहीं एनसीपी नेता और गृहमंत्री अनिल देखमुख से खड़से ने शासकीय विश्राम गृह में उनसे काफी लंबी चर्चा की थी. एकनाथ खडसे का फोन बंद होने के कारण इस मामले की अधिकृत जानकारी प्राप्त नही हो सकी है. जिसके चलते राजनीति में संभ्रम की स्थिति बनी हुई है.