On 'these' festivals, loudspeakers will be able to play till 12 pm

  • जिला प्रशासन ने दी अनुमति

जलगांव. बीते वर्ष कोरोना महामारी (Corona epidemic) के कारण धूमधाम के साथ मनाए जाने वाले उत्सवों पर भी पाबंदी रही है. लेकिन अब कोरोना के पस्त होते ही देश के महत्वपूर्ण त्यौहार (festival) और उत्सव धूमधाम से मनाए जा सकेंगे. राज्य सरकार के आदेशानुसार जिला प्रशासन द्वारा इस संबंध में आदेश जारी किये हैं। इस 2021 वर्ष में कुल मिलाकर 15 त्यौहार और उत्सव देर रात 12 बजे तक जोर-शोर से मनाए जा सकते हैं। 

जिलाधिकारी अभिजीत राउत (Collector Abhijeet Raut) के अनुसार लाउडस्पीकर (Loudspeaker) देर रात 12 बजे तक बजाने की अनुमति न्यायालय द्वारा दिये गये आदेशों के अनुसार होगी, जिसमे ध्वनि प्रदूषण नियमों का पालन करना होगा। जिला प्रशासन ने जनवरी से 31 दिसम्बर 2021 तक नियमों के अधीन लाउडस्पीकर और ध्वनिवर्धक (वाद्य) बजाने के लिए सभागृह, मंगल कार्यालय के साथ ही खुली जगहों पर जरूरत के अनुसार अनुमति दी है।

उत्सव जिन पर रहेगी छूट

2021 में छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती (19 फरवरी), डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर जयंती(14 अप्रैल), महाराष्ट्र दिवस (1 मई), गणेश उत्सव में पाचवां दिन (14 सितम्बर), सातवां दिन (16 सितम्बर), अनंत चतुर्दसी (19 सितम्बर), नवरात्रि उत्सव में अष्टमी व नवमी (13-14 अक्टूबर), ईद ए मिलाद (19 अक्टूबर), दीपावली (4 नवम्बर), क्रिसमस (25 दिसम्बर) और वर्ष का आखरी दिन 31 दिसम्बर इन त्यौहार और उत्सवों के साथ और 3  दिन आरक्षित रखे गये हैं, जिसमें जलगांव का श्रीराम रथ उत्सव हो सकेगा।