रिश्वत लेते तालुका कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंधक गिरफ्तार

जलगांव/नंदुरबार. नंदुरबार एसीबी की टीम ने नवापुर तालुका कृषि अधिकारी के कार्यालय में अनुबंध तालुका प्रौद्योगिकी प्रबंधक योगेश वामनराव भामरे (38) को सोमवार को देर शाम 8,750 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया.

नवापुर तालुका में पिंपरान के 35 वर्षीय किसान द्वारा दर्ज कराई गई एक शिकायत के अनुसार, सरकार की किसानों के समूह को मुफ्त बीज और उर्वरक प्रदान करने की योजना है. इसके लिए किसान समूह बनाते हैं और कानूनी पंजीकरण के बाद निर्माता कंपनी को तालुका कृषि अधिकारी द्वारा नंदुरबार से बीज उपलब्ध कराने सूची सौंपी जाती है, जिससे कार्यालय द्वारा वितरण के लिए संबंधित कार्यालय से तालुका स्तर के कार्यालय में भेजा जाता है. शिकायतकर्ता ने 16 किसानों का समृद्धि कृषि उत्पादक समूह बनाकर पंजीकृत किया.

नि: शुल्क बीज वितरण के लिए मांगे 8,750 रुपये 

शिकायतकर्ता उक्त समूह का अध्यक्ष है. सरकार द्वारा उनके समूह को बीज नि: शुल्क वितरित किए गए हैं और खेतों में बुवाई भी की गई है. सात दिन पहले आत्मा प्रोजेक्ट ऑफिस, नवापुर लोक सेवक योगेश वामनराव भामरे ने शिकायतकर्ता से सभी 16 किसानों से 250 रुपये के हिसाब से 4,000 रुपये की रिश्वत की मांग की थी. शिकायत कर्ता को धमकी दी थी कि अगर रिश्वत का भुगतान नहीं किया गया, तो अगले रबी सीजन के बीज मुफ्त में उपलब्ध नहीं होंगे. शिकायतकर्ता ने 19 अक्टूबर को शिकायत दर्ज करने के बाद, आरोपी लोक सेवक ने शिकायतकर्ता को बताया कि 16 किसानों नहीं, बल्कि 35 किसान हैं. 250 रुपये के हिसाब 8,750 रिश्वत की मांग की गई थी.  देर शाम गवाहों के समक्ष सार्वजनिक सड़क पर घूस लेते भामरे को गिरफ्तार किया  है.

इन्होंने धर दबोचा

नंदुरबार एसीबी उपअधीक्षक शिरीष जाधव के निर्देशन में पुलिस निरीक्षक जयपाल अहिररराव, उत्तम महाजन, संजय गुमाणे, मनोहर बोरसे, दीपक चित्ते, संदीप नावडेकर, मनोज अहिरे अमोल मराठे, योती पाटील आदि ने स्टेट बैंक के पास जाल बिछाकर रंगे हाथों गिरफ्तार किया है