Madhya Pradesh: BJP workers of these states dissatisfied with Shivraj

भोपाल. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को किसानों के हित में बड़ा फैसला लेते हुए उन्हें राज्य सरकार की ओर से प्रतिवर्ष दो किस्तों में दो-दो हज़ार रुपये कुल 4,000 रूपये की सम्मान राशि देने का निर्णय किया है। किसानों के लिये ‘‘मुख्यमंत्री सम्मान निधि” नामक यह योजना 25 सितंबर से जन संघ के सह-संस्थापक पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती से शुरू की जायेगी। इससे प्रदेश के 70 लाख किसानों को फायदा होगा।

इस योजना में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के पंजीकृत किसानों को ही शामिल किया जायेगा। प्रधानमंत्री-किसान योजना के तहत केन्द्र सरकार प्रति वर्ष छह हजार रुपये की राशि, तीन समान किश्तों में सीधे किसानों के बैंक खातों में जमा कराती है।

चौहान ने मंगलवार को ट्वीट किया, “किसानों के समग्र विकास की दृष्टि से हमने ये फैसला किया है कि इनके हित में जो योजनाएं चलाई जा रही हैं, जैसे- राजस्व पुस्तक परिपत्र खण्ड 6 कमांक 4, (आरसीबी6-क्र. 4) के अंतर्गत राहत देना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण देना, प्रधानमंत्री फसल बीमा आदि सभी योजनाओं को एक पैकेज के रूप में समाहित करके लागू करेंगे।”

उन्होंने कहा कि इस श्रृंखला के पहले चरण में मध्यप्रदेश में “मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि” शुरू की जा रही है। मुख्यमंत्री ने अपने अगले ट्वीट में कहा, “इस कड़ी में प्रथम चरण में प्रदेश में मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना प्रारंभ की जा रही है। इस योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री सम्मान निधि के सभी पात्र हितग्राही किसान परिवारों को एक वित्तीय वर्ष में दो किश्तों में कुल 4,000 रुपये का भुगतान किया जायेगा। किसान का कल्याण मेरे जीवन का ध्येय है।”

एक अन्य ट्वीट में मुख्यमंत्री ने कहा, “हम किसानों के कल्याण के लिए कृत संकल्पित हैं। हमने शून्य ब्याज दर पर ऋण की योजना को फिर से लागू किया। किसान सम्मान निधि और बीमा योजना का पूरा हित लाभ दिया। खाद्यान्न उपार्जन कर 27 हजार करोड़ से अधिक भुगतान किया। हम 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।” इससे पहले चौहान ने यहां एक कार्यक्रम में शून्य प्रतिशत ब्याज पर किसानों के खाते में 800 करोड़ रुपये का ऋण हस्तांतरित किया।

मंगलवार शाम को मुख्यमंत्री चौहान ने मंत्रिपरिषद के सहयोगियों को एक बैठक में बताया कि केंद्र व राज्य सरकार की इन योजनाओं की कुल राशि अब 10 हजार हो जाएगी। ‘मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना’ से प्रदेश के सभी किसानों को लाभ होगा। विशेष कर छोटे किसानों के लिए यह योजना वरदान साबित होगी।

चौहान ने कहा कि प्रदेश के 70 लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिल रहा है। मध्यप्रदेश सरकार किसानों का सर्वे कर प्रदेश के प्रत्येक किसान को मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ देगी। प्रदेश में खातेदार किसानों की अनुमानित संख्या एक करोड़ है।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किसानों को सम्मान निधि की पहली किस्त के वितरण की शुरुआत पंडित दीन दयाल उपाध्याय के जन्मदिन पर 25 सितंबर को किया जाएगा। मध्यप्रदेश में विधानसभा की रिक्त 28 सीटों पर उप चुनाव से पहले किसानों के हित में भाजपा सरकार ने यह अहम घोषणा की है। हालांकि, निर्वाचन आयोग द्वारा फिलहाल उप चुनाव की तारीखों की घोषणा नहीं की गयी है लेकिन प्रदेश में सत्तारुढ़ भाजपा और विपक्षी दल कांग्रेस ने उपुचनाव के मद्देनज़र अपनी तैयारियां और चुनाव प्रचार भी शुरु कर दिया है। (एजेंसी)