‘बाबरी विध्वंस’ को लेकर CM उद्धव पर भड़के अबू आज़मी, कहा – ना भूलें वो मुख्यमंत्री हैं

    मुंबई: बाबरी विध्वंस (Babri Mosque Collapse) को लेकर विधानसभा (Legislature Assembly) में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Udhav Thackeray) द्वारा दिए बयान पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi party) के महाराष्ट्र प्रमुख (Maharashtra President) और विधायक अबू आज़मी (MLA Abu Azmi) भड़क गए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि, “उद्धव जी यह न भूलें की वह राज्य के मुख्यमंत्री हैं।” ज्ञात हो कि, सपा का महाविकास अघाड़ी सरकार (Mahavikas Aghadi Government) को बाहर से समर्थन है।

    मुख्यमंत्री का स्वीकार करना दुर्भाग्यपूर्ण

    अबू आज़मी ने विधानसभा में पत्रकरों से बात करते हुए कहा, “उद्धव जी भूल गए हैं कि वे मुख्यमंत्री है। सर्वोच्च न्यायालय ने कहा था कि बाबरी मस्जिद में मूर्ति रखना और मस्जिद गिराना एक आपराधिक कृत्य था। अगर कोई सीएम आपराधिक गतिविधि को स्वीकार करता है तो दुर्भाग्यपूर्ण है।”

    उन्होंने कहा, “मैं एनसीपी-कांग्रेस को बताना चाहूंगा कि इस सरकार का गठन एककॉमन मिनिमम कार्यक्रम पर किया गया था, लेकिन यह मंदिरों और मस्जिदों के बारे में बात कर रहा है। आपको यह सोचने की ज़रूरत है कि आप आगे कैसे बढ़ेंगे।”

    मुस्लिम मंत्री और विधायक दें  इस्तीफा  

    सपा नेता ने राज्य के मुस्लिम विधायकों और मंत्रियों पर हमला बोलते हुए कहा, “सीएम ने कहा था कि वह राज्य में सीएए-एनआरसी लागू नहीं करेंगे, कांग्रेस-एनसीपी ने कहा था कि मुसलमानों के लिए 5% आरक्षण होगा, अब वे सत्ता में हैं। मुस्लिम मंत्रियों को थोड़ी शर्म दिखानी चाहिए और मंत्रालय से इस्तीफा दे देना चाहिए।”

    क्या कहा था उद्धव ने

    बुधवार को राज्य के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री ठाकरे ने भाजपा पर जम कर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि, “1992 में जब बाबरी का बिध्वंस हुआ तब आप लोग भाग खड़े हुए थे। उस समय बालासाहेब    ठाकरे ने कहा था कि बिध्वंस में अगर शिवसैनिक शामिल हैं तो मुझे उसका गर्व है। 

    कांग्रेस ने भी उठाए सवाल 

    वहीं कांग्रेस के पूर्व सांसद संजय निरुपम ने ठाकरे पर मस्जिद विध्वंस का ‘जश्न’ विधानसभा में मनाने का आरोप लगाया और कहा कि कांग्रेस और राकांपा के विधायकों ने भाषण का ‘‘आनंद” लिया। निरुपम ने कहा, ‘‘ यह किस (भाषण) न्यूनतम साझा कार्यक्रम का हिस्सा था?”